Home » इंडिया » Cow become rastramata in uttrakhand, assembly passed the resolution
 

गाय को मिला राष्ट्रमाता का दर्जा, इस राज्य की विधानसभा में पास हुआ बिल

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 September 2018, 12:24 IST

पूरे देश में बीते काफी समय से गाय को लेकर राजनीति तेज हो गई है. काफी समय से कुछ संगठनों द्वारा गाय को राष्ट्रमाता का दर्जा देने की मांग की जा रही थी. ऐसे में उत्तराखंड देश का पहला राज्य बन गया है जिसने गाय को 'राष्ट्रमाता' का दर्जा दे दिया है. उत्तराखंड विधानसभा में ये प्रस्ताव पारित किया जा चुका है. उत्तराखंड विधानसभा में बिल पास हो गया है अब इसे केंद्र के पास अप्रूवल के लिए भेजा जाएगा.

उत्तराखंड की पशुपालन मंत्री रेखा आर्य ने इस बिल को विधानसभा में पेश किया था. उन्होंने कहा, 'हम सभी (विपक्ष और सत्ता) गाय के महत्व से वाकिफ हैं. न सिर्फ भारत बल्कि दूसरे देशों में इसका सम्मान किया जाता है.'

इस मामले में आगे उन्होंने कहा, 'धार्मिक ग्रन्थों में भी, हमें गाय का उल्लेख मिलता है और कहा जाता है कि इसके शरीर 33 करोड़ देवताओं और देवताओं का वास होता है. वह कहती हैं कि अगर गाय को राष्ट्रमाता का दर्जा मिल जाता है तो इनकी सुरक्षा के लिए उचित कदम उठाए जाएंगे ताकि गोवध बंद हो सके.'

गाय की सुरक्षा के लिए सबको आना होगा साथ

उन्होंने कहा कि कई लोगों के पास जीविका का एक जरिया जानवर हैं. इस मामले में देहरादून के मेयर विनोद चंबोली ने भी लोगों से अनुरोध किया कि लोगों को गाय की सुरक्षा के लिए एकजुट हो जाना चाहिए. उन्होनें इस मामले में कहा,'अब समय आ गया है कि गाय की सुरक्षा सुनिश्चित की जाए.'

सीडी मामले में जेल जा चुके स्वामी नित्यानंद का दावा, बनाएंगे तमिल और संस्कृत बोलने वाली गाय

विपक्ष ने किया विरोध

इस मामले में विपक्ष की नेता ने सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि राष्ट्रमाता घोषित करने के पीछे की मंशा समझना उनके लिए मुश्किल है. विपक्ष की नेता इंदिरा हृदयेश ने कहा, 'हम सभी गाय का सम्मान करते हैं लेकिन मैं यह समझने में असमर्थ हूं कि बीजेपी गाय को राष्ट्र माता घोषित करके क्या साबित करना चाहती है? प्रदेश के गोशाले बुरी स्थिति में हैं और बूढ़े होने के बाद गायों को लोग छोड़ देते हैं. प्रदेश में पशुचिकित्सकों की भी कमी है.'

 

First published: 20 September 2018, 11:32 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी