Home » इंडिया » crack in nda tdp will take decision on sunday, tdp president n chandrababu naidu calls emergency meeting as he is unhappy with budget
 

शिवसेना के बाद एक और सहयोगी छोड़ सकती है भाजपा का साथ

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 February 2018, 14:42 IST

महाराष्ट्र की सत्ता में भाजपा की सहयोगी शिवसेना ने एनडीए का साथ छोड़ साल 2019 का चुनाव अकेले लड़ने का फैसला किया था. अब खबर है कि एक और बड़ा सहयोगी भाजपा का साथ छोड़कर एनडीए से अलग हो सकता है. आंध्र प्रदेश में सत्तारुढ़ दल तेलगु देशम पार्टी ने बजट आने के बाद नाराजगी जाहिर की है.

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, टीडीपी ने केंद्रीय बजट में आंध्र प्रदेश के लिए आवंटन पर 'गंभीर' नाराजगी जाहिर की और जल्द ही 'एनडीए में एक महत्वपूर्ण निर्णय लेने' का संकेत दिया. वित्त मंत्री अरुण जेटली की ओर से बजट पेश करने के बाद TDP अध्यक्ष और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू ने अपने पार्टी के सांसदों के साथ एक टेलीकॉन्फ्रेंस किया, जो दिल्ली में विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री वाईएस चौधरी के आवास पर इकट्ठे हुए थे.

 

सांसदों ने शिकायत की कि बजट पूरी तरह से निराशाजनक था और आंध्र प्रदेश पुनर्गठन अधिनियम में किए गए किसी भी वादे को बजट में कोई भी उल्लेख नहीं मिला. पार्टी के एक सांसद ने बीजेपी के खिलाफ 'वॉर' छेड़ने की घोषणा कर दी.

टीडीपी के सांसद टीजी वेंकटेश ने शुक्रवार को कहा, 'हम बीजेपी के खिलाफ वॉर की घोषणा करने जा रहे हैं. हमारे पास तीन ही विकल्प हैं. पहला कि एनडीए के साथ बने रहे, दूसरा हमारे सांसद इस्तीफा दें और तीसरा गठबंधन से बाहर निकल जाएं. हम रविवार को सीएम नायडू के साथ बैठक में फैसला करेंगे.'

वहीं चंद्रबाबू नायडू ने टीडीपी सांसदों से कहा कि बजट में आंध्र प्रदेश के लिए फंड के आवंटन से वह बेहद असंतुष्ट हैं. यह बीजेपी को तय करना है कि वह इस फैसले का कैसे बचाव करती है. हमलोग प्रदेश की जनता को बताएंगे कि कैसे बजट में आंध्र प्रदेश की पूरी तरह उपेक्षा की गई. नायडू ने सांसदों से कहा कि आंध्र प्रदेश की जनता से साथ हुए 'अन्याय' का जवाब बीजेपी के साथ गठबंधन तोड़कर ही दिया जा सकता है. हालांकि, चंद्रबाबू ने कहा कि वह बजट सेशन तक प्रतीक्षा करने को पक्षधर हैं और पार्टी को भी इस सत्र तक का इंतजार करना चाहिए.

First published: 2 February 2018, 14:42 IST
 
अगली कहानी