Home » इंडिया » Now ATM withdrawl limit rupees 2500 daily and 4500 rupees can be changed
 

राहत: अब रोज़ ATM से निकालिए 2500 रुपये और बैंक में बदलिए 4500 रुपये

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 November 2016, 8:37 IST

नोटबंदी के बाद मुश्किलों से जूझ रही जनता के लिए थोड़ा राहत भरी ख़बर है. वित्त मंत्रालय ने एटीएम से रोज़ाना पैसे निकालने की सीमा को दो हजार रुपये से बढ़ाकर 2500 रुपये कर दिया है. पांच सौ और एक हजार के नोट बंद होने के बाद से लोगों को कैश की काफ़ी दिक़्क़त हो रही है.

इसके साथ ही बैंकों में पांच सौ और एक हजार के पुराने नोट बदलने पर की सीमा भी बढ़ गई है. अब 4500 रुपये के पुराने नोट रोज़ाना बदले जा सकेंगे.  

हफ्ते में 24000 का काउंटर से भुगतान

वित्त मंत्रालय की तरफ से कहा गया है, "एटीएम से रोजाना निकासी की सीमा बढ़ाकर 2,500 रुपये करने का निर्देश दिया गया है. बैंक काउंटर से प्रति हफ्ते अधिकतम निकासी की सीमा 20,000 रुपये से बढ़ाकर 24,000 रुपये कर दी गई है. बैंक से रोजाना 10,000 रुपये निकासी की सीमा को हटा दिया गया है. " 

सीनियर सिटिजन-विकलांगों की अलग कतार

वित्त मंत्रालय की ओऱ से वरिष्ठ नागरिकों और विकलांगों के लिए अलग कतार लगवाने के निर्देश दिए गए हैं. गौरतलब है कि कुछ जगहों से सीनियर सिटिजन के कतार में लगे होने के दौरान मौत की खबरें आई हैं.

 इस बीच नोटबंदी के पांचवें दिन भी दिल्ली में सुबह से लोगों की लंबी कतार देखी जा रही है. गुरु पूर्णिमा की वजह से आज बैंकों की छुट्टी है, इस वजह से ज्यादा लोग एटीएम पर उमड़ रहे हैं. वहीं चौथे दिन रविवार को भी पैसे जमा कराने और एटीएम से निकालने के लिए हुजूम उमड़ पड़ा. 

दूर-दराज के इलाकों में नई करेंसी पहुंचान के लिए हेलीकॉप्टर की मदद ली जा रही है. झारखंड के बोकारो शहर में बैंकों और एटीएम तक नए नोट पहुंचाने के लिए आरबीआई ने हेलीकॉप्टर के जरिए कैश भेजा.

3 लाख करोड़ के पुराने नोट जमा

वित्त मंत्रालय की प्रेस रिलीज के मुताबिक पांच सौ और एक हजार के नोट बंद होने के बाद से रविवार शाम पांच बजे तक बैंकों में तीन लाख करोड़ रुपये के नोट जमा हो चुके हैं. इस दौरान एटीएम और नोट बदलने के साथ काउंटर से 50 हजार करोड़ रुपये निकाले गए. 

वित्त मंत्रालय ने कहा है कि अगर कोई अस्पताल, कैटरर या टेंट हाउस चेक, डिमांड ड्राफ्ट या ऑनलाइन भुगतान से मना करता है तो जिलाधिकारी से फौरन शिकायत करें. 

दिल्ली के कनॉट प्लेस में एक दिव्यांग ने पीएम मोदी के कदम का समर्थन करते हुए कहा, "यह बस कुछ दिनों की बात है, उसके बाद हमारा भविष्य सुरक्षित होगा. हमें पीएम मोदी का साथ देना चाहिए."

First published: 14 November 2016, 8:37 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी