Home » इंडिया » Cyclone Fani: Odisha pegs losses at ₹11,942 crore
 

फानी ने ओडिशा को पहुंचाया 11,942 करोड़ का नुकसान, अकेले जगन्नाथ मंदिर को हुआ इतना नुकसान

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 May 2019, 17:23 IST

भले ही 3 मई को ओडिशा में चक्रवाती तूफ़ान फनी से तबाह हुए जिलों में सामान्य जनजीवन सामान्य हो रहा हो, लेकिन इस तूफान ने ओडिशा को 11,942 करोड़ का नुकसान पहुंचाया है. चक्रवात ने 18,388 गांवों, 14 जिलों और 51 शहरों में में 1.6 करोड़ लोगों को प्रभावित किया.

हिंदू की रिपोर्ट के अनुसार राज्य के मुख्य सचिव आदित्य प्रसाद पाधी ने यहां केंद्रीय दल के साथ बैठक के बाद संवाददाताओं से कहा कि राहत और बहाली के लिए आवश्यक धनराशि और राहत और बहाली के लिए एक विस्तृत ज्ञापन केंद्र को प्रस्तुत किया जाएगा.

 

केंद्रीय गृह मंत्रालय में संयुक्त सचिव, विवेक भारद्वाज, जिन्होंने 11 सदस्यीय केंद्रीय टीम का नेतृत्व किया, ने प्रभावित लोगों को राहत और सहायता प्रदान करने के लिए ओडिशा सरकार की कार्रवाई की सराहना की.

फानी से सबसे ज्यादा प्रभावित जिलों में पुरी, खुर्दा, कटक, मयूरभंज, क्योंझर, बालासोर, भद्रक, जाजपुर, अंगुल, ढेंकनाल, नयागढ़, गंजम, केंद्रपाड़ा और जगतसिंहपुर शामिल हैं. अकेले पुरी जिले में 1,89,095 घर और अपार्टमेंट सहित क्षेत्र में पांच लाख से अधिक घर क्षतिग्रस्त हो गए. पुरी जिला तूफान की चपेट में था जिससे 64 लोग हताहत हुए. चक्रवात में लाखों पशुओं को भी नुकसान पहुंचा. जगन्नाथ मंदिर को 5,175 करोड़ का नुकसान हुआ.

केंद्रीय सुरक्षाबलों के जवानों को खुशखबरी, रिटायरमेंट की बढ़ाई जा रही है उम्रसीमा

जगन्नाथ मंदिर सहित ओडिशा के पुरी के कुछ हिस्सों में बुधवार शाम को राज्य के तट पर चक्रवात फानी के 12 दिन बाद बिजली आपूर्ति बहाल कर दी गई. बिजली आपूर्ति बहाल करने की मांग को लेकर पुरी में निवासियों द्वारा सड़कों पर ले जाने के एक दिन बाद यह बात सामने आई. मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने घोषणा ट्विटर पर साझा की. पटनायक ने कहा, "यह बताते हुए बेहद खुशी हो रही है कि श्रीमंदिर में बिजली आपूर्ति बहाल कर दी गई है.

First published: 16 May 2019, 14:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी