Home » इंडिया » Cyclone Nisarga: It may hit Mumbai Coast in afternoon today after 129 years high alert in many states
 

Cyclone Nisarga: आज दोपहर मुंबई तट से टकराएगा निसर्ग तूफान, मचा सकता है भारी तबाही

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 June 2020, 9:11 IST

Cyclone Nisarga Updates: कोरोना (Corona) की मार झेल रहे मुंबई (Mumbai) पर अब समुद्री तूफान निसर्ग (Cyclone Nisarga) की मार पड़ने वाली है. समुद्री तूफान निसर्ग आज दोपहर मुंबई के तट (Mumbai Coast) से टकरा सकता है. जिससे मुंबई समेत आसपास के इलाकों में भारी तबाही मच सकती है. तूफान की गंभीरता को देखते हुए सरकार (Government) ने कई राज्‍यों को अलर्ट पर रखा है. इस समुद्री तूफान से महाराष्‍ट्र और गुजरात में सबसे अधिक तबाही मच सकती है. महाराष्ट्र, गुजरात, केंद्र शासित दमन व दीयू और दादर नगर हवेली में लोगों की सुरक्षा के लिए कड़े इंतजाम किए गए हैं.

मौसम विभाग का कहन है कि चक्रवाती तूफान निसर्ग जब लैंडफॉल करेगा जब हवाओं की गति 110 से 120 किमी प्रतिघंटा हो सकती हैं. इसके चलते भारी बारिश होगी और नुकसान की आशंका बढ़ जाएगी. बता दें कि मंगलवार को अरब सागर में हवा के दबाव में परविर्तन होने से बने चक्रवात निसर्ग ने अब खतरनाक रूप ले लिया है. ये बुधवार को मुंबई से करीब 94 किमी की दूरी पर स्थित अलीबाग में जमीन से टकराएगा.


द्वितीय विश्व युद्ध के बाद पहली हुआ ऐसा, लॉकडाउन से वैश्विक प्रदूषण में रिकॉर्ड गिरावट

Weather Forecast: देश के इन राज्यों में भारी बारिश की आशंका, गर्मी से राहत मिलने की उम्मीद

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के मुताबिक, मंगलवार की दोपहर चक्रवात निसर्ग का केंद्र गोवा के पंजिम शहर से दक्षिण पश्चिम में 280 किलोमीटर और मुंबई से 430 दक्षिण पश्चिम अरब सागर में था. अब ये अगले 12 घंटों में और विकराल रूप लेने वाला है. चक्रवाती तूफान निसर्ग पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी नजर बनाए हुए हैं. उन्होंने निसर्ग को लेकर की गई तैयारियों की समीक्षा की है. साथ ही दोनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बातचीत कर हरसंभव मदद का आश्वासन दिया है.

मौसम विभाग ने चक्रवाती तूफान को लेकर जारी किया अलर्ट, इन राज्यों में हो सकती है भारी बारिश

Hika Cyclone: अब देश के सामने आने वाला है एक नया संकट, इन राज्यों पर आएगी बड़ी आफत

मौसम विज्ञान विभाग के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र के मुताबिक, इस तूफान से गुजरात से ज्यादा महाराष्ट्र के जिले प्रभावित होंगे. इससे महाराष्ट्र के तटीय इलाकों के मुंबई, थाणे और रायगढ़ में इसका ज्यादा असर देखने को मिल सकता है. तूफान की चेतावनी के साथ ही मछुआरों को समुद्र में जाने से रोक दिया गया है. तूफान से निपटने के लिए एनडीआरएफ की 34 टीमें तैनात की गई हैं. बल के महानिदेशक एसएन प्रधान के मुताबिक, गुजरात में 16 टीमें, महाराष्ट्र में 15 टीमें, दमन और दीयू में दो और दादर व नगर हवेली में एक टीम तैनात की गई है. ये टीम तटीय क्षेत्र से लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेज रही हैं.

केरल में शुरु हुई झमाझम बारिश, यूपी में 20 जून तक दस्तक दे सकता है मानसून

मौसम विभाग की चेतावनी- इस बार उत्तर भारत में सामान्य से ज्यादा होगी बारिश

केंद्र सरकार की ओर से अभी-अभी मिली जानकारी के मुताबिक, चक्रवाती तूफान निसर्ग आगे बढ़ गया है और हवा की गति भी तेज हो गई है. जानकारी के मुताबिक, हवा की गति 85-90 किलोमीटर प्रति घंटा की तफ्तार से बढ़कर 90-100 किलोमीटर प्रति घंटा हो गई है. अब ये तेजी से तट की ओर बढ़ रहा है. कुछ ही घंटे में इसके तट से टकराने की आशंका है.

कोरोना के बाद मुंबई पर निसर्ग चक्रवात की मार, 100 किलोमीटर प्रति घंटा रफ्तार से चलेंगी हवाएं

First published: 3 June 2020, 9:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी