Home » इंडिया » Cyclone Yaas: Cyclone 'Yaas' in the Bay of Bengal knocked, heavy rain started in the coastal areas of Odisha
 

Cyclone Yaas: बंगाल की खाड़ी में बने चक्रवाती तूफान 'यास' ने दी दस्तक, ओडिशा के तटीय इलाकों में शुरु हुई जोरदार बारिश

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 May 2021, 22:29 IST
Heavy Rain (File Photo)

चक्रवाती तूफान तौकते के बाद बंगाल की खाड़ी में बने यास चक्रवात ने अपना असर दिखाना शुरु कर दिया है. चक्रवाती तूफान यास के चलते ओडिशा के तटीय इलाकों में तेज हवाओं के साथ बारिश शुरू हो गई है. मौसम विभाग (IMD) ने सोमवार को बताया था कि बंगाल की खाड़ी के ऊपर बना लो प्रेशर एरिया चक्रवाती तूफान 'यास' में बदल गया है और इसके बहुत भीषण चक्रवाती तूफान में बदलने के बाद 26 मई को ओडिशा-पश्चिम बंगाल के तटों से गुजरने का अनुमान है. भारतीय मौसम विभाग (IMD) के मुताबिक, इसके अगले 12 घंटे में और तेज होने और 24 घंटे में भीषण चक्रवाती तूफान में बदलने का अनुमान है.

मौसम विभाग के मुताबिक, 'यास' के 26 मई की दोपहर को पारादीप और सागर द्वीपों के बीच होते हुए ओडिशा-पश्चिम बंगाल तटों से गुजरने का अनुमान है. यह एक बहुत ही भीषण चक्रवाती तूफान होगा. जिसके चलते 155-165 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से हवाएं चलेंगी. मौसम विभाग के महानिदेशक डॉ. मृत्युंजय महापात्र ने बताया कि "ओडिशा के चार तटीय जिले भद्रक, बालासोर, केंद्रपाड़ा तथा जगतसिंहपुर इस चक्रवात 'यास' से सर्वाधिक प्रभावित हो सकते हैं." उन्होंने बताया कि 120-165 प्रतिघंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं और ओडिशा में भारी बारिश होगी.


चक्रवात यास के संभावित प्रभाव को देखते हुए ओडिशा सरकार ने बचाव दलों को तैनात कर दिया है. एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि प्रदेश सरकार संवेदनशील इलाकों से लोगों को निकालने की योजना बना रही है. ओडिशा सरकार ने राष्ट्रीय आपदा मोचन बल, ओडिशा आपदा त्वरित कार्रवाई बल और दमकल सेवा कर्मियों को तैनात किया है. उसका अनुमान है कि बालासोर तथा भद्रक जिलों में चक्रवात का बहुत अधिक असर हो सकता है. मौसम विभाग के मुताबिक 26 मई को पूर्व और पश्चिम मेदिनीपुर, दक्षिण तथा उत्तर 24 परगना, हावड़ा, झारग्राम, हुगली और कोलकाता के ज्यादातर इलाकों में बारिश और भारी बारिश होने का अनुमान है.

Black fungus: 18 राज्यों में ब्लैक फंगस के 5,424 मामले, स्वास्थ्य मंत्री ने बताया- किस राज्य में कितने केस

वहीं भारतीय मौसम विभाग के मुताबिक, चक्रवात का असर ओडिशा और पश्चिम बंगाल के अलावा तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में भी दिख सकता है. केरल के तटवर्ती इलाकों के कुछ हिस्‍से भी इससे प्रभावित हो सकते हैं. इन स्थानों में तेज हवाएं चलने और बारिश का अनुमान है. इसके अलावा भी यास तूफान के चलते देश के कुछ अन्य इलाकों में भी बारिश होने की संभावना है.

देश में पहली बार इंसानों में मिला येलो फंगस का मामला, ब्लैक और व्हाइट फंगस से है ज्यादा खतरनाक

First published: 24 May 2021, 22:29 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी