Home » इंडिया » Dalai lama apologize for his statement on mahatma gandhi, jinnah and Jawarlal Nehru
 

दलाई लामा ने मांगी माफी, भारत के विभाजन के लिए नेहरू को बताया था जिम्मेदार

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 August 2018, 12:23 IST
(file photo )

तिब्बत के आध्यात्मिक गुरु दलाई लामा ने महात्मा गांधी और मोहम्मद अली जिन्ना को लेकर दिए अपने बयान के लिए माफी मांगी है. दलाई लामा ने कहा है कि अगर मेरा बयान गलत है तो मैं उसके लिए माफी मांगता हूं. उनके महात्मा गांधी और जिन्ना को लेकर दिए गए बयान को लेकर काफी हंगामा हुआ था. कई राजनीतिक दलों ने उनके इस बयान को लेकर विरोध जताया था. 

बता दें कि दलाई लामा ने बुधवार को एक कार्यक्रम में पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू को आत्मकेंद्रित व्यक्ति बताया था. उन्होंने कहा था कि महात्मा गांधी मोहम्मद अली जिन्ना को भारत का प्रधानमंत्री बनाना चाहते थे, लेकिन जवाहर लाल नेहरू ने इसके लिए इनकार कर दिया. अगर गांधीजी की यह इच्छा पूरी हो जाती तो भारत का विभाजन ही नहीं होता. 

बता दें कि दलाई लामा ने बुधवार को एक कार्यक्रम में पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू को आत्मकेंद्रित व्यक्ति बताया था. उन्होंने कहा था कि महात्मा गांधी मोहम्मद अली जिन्ना को भारत का प्रधानमंत्री बनाना चाहते थे, लेकिन जवाहर लाल नेहरू ने इसके लिए इनकार कर दिया. अगर गांधीजी की यह इच्छा पूरी हो जाती तो भारत का विभाजन ही नहीं होता. 

दलाई लामा ने कहा था कि सामंती व्यवस्था से प्रजातांत्रिक व्यवस्था अच्छी होती है, क्योंकि सामंती व्यवस्था में सारी शक्ति एक ही व्यक्ति के हाथों में होती है. जो बहुत खतरनाक होता है. अब अगर भारत की तरफ देखें तो मुझे लगता है कि महात्मा गांधी जिन्ना को प्रधानमंत्री बनाने के इच्छुक थे, लेकिन पंडित नेहरू ने ऐसा करने से इनकार कर दिया.

'मुझे लगता है कि खुद को प्रधानमंत्री के रूप में देखना पंडित नेहरू का आत्म केंद्रित रवैया था. महात्मा गांधी भारत के बंटवारे को रोकना चाहते थे. अगर महात्मा गांधी की बात को मान लिया गया होता तो भारत और पाकिस्तान एक होते.  उन्होंने कहा कि मैं पंडित नेहरू को अच्छी तरह जानता हूं. वो बहुत बुद्धिमान व्यक्ति थे, लेकिन कभी कभी गलतियां हो जाती हैं.

ये भी पढ़ें- धर्मशाला में दलाई लामा से मिले कंगारू क्रिकेटर

 
 

First published: 10 August 2018, 12:23 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी