Home » इंडिया » Dalit gram pradhan mother murdered in uttar pradesh
 

यूपी विधानसभा अध्यक्ष माता पांडेय के क्षेत्र में दलित की हत्या

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 February 2016, 15:14 IST

पूर्वी उत्तर प्रदेश के सिद्धार्थनगर जिले में एक दबंग राजपूत परिवार ने दलित प्रधान की मां की गोली मारकर हत्या कर दी. इस घटना में कुछ लोग घायल भी हुए हैं.

यह वारदात रविवार रात उत्तर प्रदेश विधानसक्षा अध्यक्ष माता प्रसाद पांडेय के विधानसभा क्षेत्र इटवा में हुई. सिद्धार्थनगर पुलिस ने इस मामले में छह लोगों को गिरफ्तार किया है. दिलचस्प बात यह है कि पुलिस ने मारी गई महिला के बेटे दिनेश को भी इस मामले में गिरफ्तार कर लिया है.

इस मामले में मुख्य आरोपी मुन्ना ठाकुर और उनके बेटे अखिलेश प्रताप सिंह की पुरानी राजनीतिक रंजिश गांव प्रधान बबलू से रही है. मारी गई दलित महिला के प्रपौत्र सुनील गौतम बताते हैं, 'मुन्ना ठाकुर विधानसभा अध्यक्ष माता प्रसाद पांडेय के करीबी हैं. उन्हीं के इशारे पर हत्यारों के खिलाफ कार्रवाई करने की बजाय मृतक महिला के बेटे दिनेश को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है  जबकि मुख्य आरोपी तक पुलिस अभी भी नहीं पहुंची है.'

पहले भिलौली गांव में प्रधान मुन्ना ठाकुर हुआ करते थे लेकिन सीट आरक्षित होने के बाद उनके समर्थक उम्मीदवार को बबलू ने चुनाव में हरा दिया था.

ताजा घटना गांव में पहरेदारी देने को लेकर हुई. भिलौरी गांव की सुरक्षा के लिए ग्रामीणों को बारी-बारी से रात में रखवाली करनी थी. मुन्ना ठाकुर ग्राम प्रधान बबलू के इस फैसले के खिलाफ था.

रविवार रात जब मुन्ना के समर्थकों की ड्यूटी लगी तो उन्होंने पहले मारपीट की. विवाद बढ़ने के बाद मुन्ना के बेटे अखिलेश ने घर से लाइसेंसी बंदूक लाकर प्रधान की मां दुलारमती देवी (60) को गोली मार दी.

सिद्धार्थनगर के एसपी अजय कुमार साहनी के मुताबिक मुन्ना ठाकुर, उनके बेटे अखिलेश प्रताप सिंह समेत 6 लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

38 वर्षीय ग्राम प्रधान बबलू ने कहा है कि चुनाव जीतने के बाद से ही मुन्ना ठाकुर और उनके समर्थक कोई भी काम नहीं करने दे रहे हैं. दिक्कतें पैदा करने के अलावा इन लोगों ने कई बार जान से मारने की धमकी भी दी है.

First published: 1 February 2016, 15:14 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी