Home » इंडिया » dalit student dilip saroj beaten up with rod and bricks died in hospital, allahabad degree college, law student, LLB student
 

VIDEO: युवक का पैर टकरा गया फिर क्या उन्होंने हॉकी, रॉड, ईंटों से कूचकर जान से मार डाला

आदित्य साहू | Updated on: 12 February 2018, 10:45 IST

यूपी के इलाहाबाद से एक ऐसा वीडियो सामने आया है जिसे देखकर आपकी रूह कांप जाएगी. वीडियो में एक दलित व्यक्ति को कुछ गुंडों ने सिर्फ इसलिए मार डाला क्योंकि कथित तौर पर दलित शख्स का पैर उन गुंडों को छू गया था. इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया में तेजी से वायरल हो रहा है.

वीडियो और प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, इलाहाबाद डिग्री कॉलेज में कानून की पढ़ाई करने वाला 26 वर्षीय दिलीप सरोज कटरा इलाके के कालिका रेस्टोरेंट में अपने दोस्तों के साथ खाना खाने गया था. वहां सरेआम उसकी पीट पीटकर हत्या कर दी गयी.

दिलीप का दोष इतना था कि रेस्तरां के अंदर जाते वक्त उसका पैर लग्जरी कारों से आए युवक 'विजय शंकर सिंह' से टकरा गया था. दिलीप और उसके दोस्त सीढ़ी पर बैठे थे जिसके बाद विजय शंकर से निकलते वक्त मामूली टक्कर हुई और विवाद ने बड़ा रूप ले लिया.

हत्या का जो वीडियो सामने आया है वो विचलित कर देने वाला है. बेहोश होने के बाद भी दिलीप को ईंट, लाठी, पत्थर से पीटा जा रहा है. एक दिन कोमा में रहने के बाद दिलीप की मौत हो गयी.

जिले के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आकाश कुलहरि ने बताया, "दिलीप के भाई की तहरीर पर कल सुबह तीन अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई थी. सीसीटीवी फुटेज और इस घटना के वायरल हुए वीडियो के आधार पर मुख्य अभियुक्त के तौर पर विजय शंकर सिंह की पहचान की गई है जो भारतीय रेलवे में टीटीई के पद पर कार्यरत है. वह अभी फरार है."

एसएसपी आकाश कुलहरि ने प्रेस कांफ्रेंस कर खुलासा किया इलाहाबाद पुलिस की स्पेशल टीम ने एक युवक मुन्ना सिंह चौहान को किया गिरफ्तार, इसने रॉड से दिलीप पर कई बार हमला किया था, मुन्ना चौहान रेस्टोरेंट में वेटर भी है.

वायरल वीडियो में दिख रहा है कि लोग दिलीप को हॉकी स्टिक, टूटी पाइप और ईंटों से बुरी तरह मार रहे हैं. वहां से गुजर रहे एक व्‍यक्ति के मोबाइल फोन से रिकॉर्ड किए गए वीडियो में दिख रहा है कि दिलीप सरोज नाम का शख्‍स रेस्‍तरां की सीढ़ियों पर अचेत पड़ा है. ऐसा लग रहा है कि उसे मार रहे लोग नशे में धुत हैं.

वीडियो में वहां से गुजरता एक व्‍यक्ति रुकता भी जबकि अन्‍य इस पर ध्‍यान नहीं देते. जिन लोगों ने इस घटना को अपने मोबाइल में कैद किया, वो वीडियो में कहते सुने जा सकते हैं कि 'जब वह मर जाएगा तभी पुलिस आएगी.' हालांकि उनमें से किसी ने पुलिस को फोन नहीं किया.

नोट- वीडियो आपको विचलित कर सकता है

पुलिस अधीक्षक आकाश कुलहरि ने बताया, "कालका होटल के मालिक अमित उपाध्याय को गिरफ्तार कर लिया गया है. वह विजय शंकर सिंह को पहले से जानता था और घटना के समय स्थल पर मौजूद था लेकिन इस घटना की सूचना उसने पुलिस को नहीं दी."

उन्होंने कहा कि शव का पोस्टमार्टम कर उसे उसके परिजनों को सौंप दिया गया है. कुलहरि ने माना कि भरे बाजार में ऐसी घटना की सूचना थाना प्रभारी को नहीं होना, उसकी खुफिया तंत्र की विफलता है... इस घटना की जवाबदेही तय की जाएगी और ड्यूटी में लापरवाही बरतने वाले पुलिसकर्मियों को निलंबित किया जाएगा.

First published: 12 February 2018, 9:52 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी