Home » इंडिया » Dalits say may embrace Islam in hindaun city rajasthan
 

उच्च जाति के लोगों ने आई कार्ड से पहचान कर पीटा, दलितों ने दी इस्लाम अपनाने की धमकी

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 April 2018, 9:24 IST

एससी-एसटी एक्ट पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ जारी आंदोलन के बीच राजस्थान से एक बड़ी खबर आ रही है. यहां कथित रूप से सवर्णों ने दलित समुदाय के लोगों के आईडी कार्ड से पहचान कर पीटा. इसके बाद दलितों ने इस्लाम धर्म कबूल करने की धमकी दी. दलित समुदाय के लोगों का कहना है कि अगर इस तरह की समस्याएं और सामने आईं तो वह इस्लाम कबूल कर लेंगे.

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के अनुसार, राजस्थान के करौली जिले में बाबासाहेब भीमराव आंबेडकर की मूर्ति के सामने इकट्ठा होकर दलित समुदाय के लोगों ने अपना दर्द बयां किया. दलित समुदाय के एक शख्स ने बताया कि हिंडौन सिटी की जाटव बस्ती में भीमराव आंबेडकर की प्रतिमा के पास भारी तादाद में सर्वण इकट्ठा हुए और आईडी कार्ड से पहचान कर मारपीट की.

 

पीड़ित अश्विनी जाटव ने बताया कि मारपीट करने से पहले उन्होंने हमारा आईडी कार्ड चैक किया. उसने बताया कि वे सभी ऊंची जाति के थे. उन्होंने महिलाओं को भी नहीं छोड़ा, उनके साथ भी मारपीट की.

मामले को लेकर जिला कलेक्टर सहित प्रशासनिक अधिकारियों ने प्रत्यक्ष तौर पर कुछ भी कहने से इनकार कर दिया. लेकिन जिला कलेक्टर के कहने पर जिला शिक्षा अधिकारी और जाटव समाज के पूर्व जिला निर्वाचन अधिकारी रहे ताराचंद जाटव ने हिंदू धर्म में पूर्ण आस्था जताते हुए इस्लाम धर्म अपनाने की अफवाहों और बातों से स्पष्ट इंकार कर दिया.

 

हालांकि मीडिया की टीम जब हालात का जायजा लेने बयान रोड स्थित चुंगी के पास जाटव बस्तियों में पहुंचे तो उन्होंने हिंदू धर्म के नाम पर प्रताड़ित करने और आए दिन अपमानित करके मारपीट और दहशत के माहौल से दुखी होकर इस्लाम धर्म कबूलने की बात कही है.

पढ़ें : PNB SCAM: अब सीवीसी ने भी पीएनबी स्कैम का ठीकरा RBI पर फोड़ा

उन्होंने कहा कि जिस धर्म में इंसान को इंसान नहीं समझा जाता उसे अपनाने के स्थान पर जहां इंसान को इंसान और समानता का भाव हो वो धर्म अच्छा है. इस पूरे मामले पर प्रशासन ने कुछ भी कहने से इनकार कर दिया.

First published: 5 April 2018, 9:24 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी