Home » इंडिया » Dangerous nipah virus re-entered the knot in Kerala, 17 killed last year
 

केरल में खतरनाक निपाह वायरस ने फिर दी दस्तक, पिछले साल हुई थी 17 मौतें

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 June 2019, 11:48 IST

केरल के एर्नाकुलम जिले में एक 23 वर्षीय छात्र के सीरम के नमूने में, जिन्हें पुणे में नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी में आगे के परीक्षणों के लिए भेजा गया था, निपाह वायरस की पुष्टि हुई है. मंगलवार को स्वास्थ्य मंत्री केके शैलजा ने निपाह वायरस की पुष्टि की खबर दी. कोच्चि में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए मंत्री ने कहा कि सरकार ने परीक्षण के बाद वायरस के संक्रमण की पुष्टि की है. केरल में निपाह वायरस की पुष्टि के बाद हलचल मची हुई है. पिछले साल निपाह से 17 लोगों की मौत हो गई थी.

मंत्री ने आश्वासन दिया कि सरकार ने संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए सभी एहतियाती कदम उठाए हैं. अस्पताल में चार लोग रोगी की देखरेख के लिए रखा गया है. हालांकि उसकी हालत गंभीर नहीं बताई गई है, लेकिन उसे आइसोलेशन वार्ड में स्थानांतरित कर दिया गया है.मरीज की हालत अब स्थिर है और वह लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर नहीं है.

निपाह वायरस बेहद खतरनाक माना जाता है. इस वायरस का कारण चमगादड़ माना जाता है, जिससे यह वायरस इन इंसानों में फैसला है. चिकित्सकों का कहना है कि चमगादड़ अक्सर फलों का रास चूसते हैं, जिससे वह इंसानों में फैसला है. इस वायरस से तेज बुखार आता है. सांस लेने में मुश्किल होती है. मरीज को सिरदर्द, चक्कर, उल्टी और बेचैनी होने लगती है.

क्यों 5जी स्पेक्ट्रम की बिक्री मोदी सरकार के लिए नहीं है आसान ?

First published: 4 June 2019, 11:48 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी