Home » इंडिया » Day after launch by PM Modi, Train 18 breaks down 200 km outside Delhi
 

PM मोदी के लॉन्च करने के एक दिन बाद वंदे भारत एक्सप्रेस का इंजन हुआ जाम

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 February 2019, 11:11 IST

वंदे भारत एक्सप्रेस को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा हरी झंडी दिखाए जाने के एक दिन बाद ट्रेन 18 में खराबी आ गई. जिस वक़्त इस ट्रैन में खराबी आयी यह दिल्ली से लगभग 200 किलोमीटर की दूरी पर थी. वंदे भारत एक्सप्रेस रविवार को अपने पहले वाणिज्यिक रन के लिए वाराणसी से नई दिल्ली वापस लाया जा रहा था, जब आखिरी डिब्बों में से एक में ब्रेक जाम हो गया. 

इससे पहले ट्रैन में संदिग्ध आवाजों के बाद पायलटों ने कुछ समय के लिए गति कम कर दी. इस दौरान ट्रैन में धुआं देखा गया और अंतिम चार कोचों में एक दुर्गंध महसूस की गई थी. सभी कोचों में बिजली चली गई और इंजीनियरों ने 10 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से ट्रेन को फिर से चलाया. तब तक ट्रेन को ऑनबोर्ड सूचना के अनुसार लगभग 2.5 घंटे में दिल्ली पहुंचने का समय निर्धारित था. इंजीनियर टॉर्च और अन्य उपकरणों के साथ डिब्बों के नीचे देखते रहे.

रेलवे में ब्रेक बाइंडिंग असामान्य नहीं है. उन्हें फोन पर वरिष्ठ अधिकारियों को समस्या के बारे में बताया गया. डेड लोड के चार डिब्बों के साथ इसे चलाने पर बहुत तेज आवाज आती रही. उन्होंने एक बार फिर वरिष्ठ अधिकारियों से सलाह ली और उसके बाद इसे 40 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलाने की कोशिश करने का फैसला किया.

रेलवे ने एयर कंडीशन चेयर कार का किराया 1850 रुपये निर्धारित किया है जबकि एग्जीक्यूटिव चेयर कार का किराया 3520 रुपये है और इसमें कैटरिंग चार्ज भी शामिल है. यात्रियों को खाने-पीने का कोई शुल्क नहीं देना होगा. दिल्ली से वाराणसी के लिए यह किराया है.

रिटर्निंग के दौरान चेयर कार का किराया 1795 रुपये और एग्जीक्यूटिव क्लास में चेयर कार का भाड़ा 3470 रुपये है. अगर शताब्दी की बात करें तो दिल्ली से वाराणसी के बीच इसके किराये से डेढ़ गुना चेयर कार का किराया है, जबकि फर्स्ट एसी का 1.4 गुना एग्जीक्यूटिव क्लास का किराया है.

First published: 16 February 2019, 11:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी