Home » इंडिया » dayashankar singh challenge to mayawati
 

दयाशंकर ने दी मायावती को चुनौती, हिम्मत है तो पत्नी के खिलाफ लड़ें चुनाव

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 August 2016, 12:16 IST
(एजेंसी)

मायावती पर अभद्र टिप्पणी करने के मामले में गिरफ्तारी के बाद रिहा हुए बीजेपी से निष्कासित नेता दयाशंकर सिंह ने रविवार को बहुजन समाज पार्टी (बसपा) मुखिया मायावती को चुनौती दी.

दयाशंकर ने कहा कि अगर उन्हें लगता है कि वो बड़ी नेता हैं तो मेरी पत्नी के खिलाफ चुनाव लड़के दिखाएं. इसके अलावा दयाशंकर सिंह ने बसपा प्रमुख के द्वारा कथित रूप से चुनाव के टिकट बेचे जाने की सीबीआई जांच की मांग की.

दयाशंकर सिंह ने संवाददाताओं से कहा, "मायावती चुनाव लड़ने के लिए उत्तर प्रदेश में कोई भी सामान्य सीट चुन लें. मैं अपनी पत्नी को वहीं से चुनाव लड़ाऊंगा."

उन्होंने मायावती पर चुनाव के टिकट बेचने का आरोप दोहराते हुए इसकी सीबीआई जांच की मांग की और कहा कि यदि ऐसा नहीं होता है तो वह इसके लिए अदालत का दरवाजा खटखटाएंगे.

सिंह ने साथ ही कहा कि बसपा प्रमुख के खिलाफ एक आपत्तिजनक शब्द बोलने के लिए उन्होंने माफी मांगी और सजा के तौर पर उन्हें बीजेपी से निकाल भी दिया गया, लेकिन मायावती को इससे भी संतुष्टि नहीं मिली और उन्होंने उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज करवा दिया.

बीजेपी के निष्कासित पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष दयाशंकर सिंह ने कहा कि उनके साथ अपराधियों जैसा बर्ताव किया गया. ऐसी सरगर्मी से तलाश की गई, जैसे कि दाऊद इब्राहिम को ढूंढ़ा जा रहा हो, जबकि उनसे भी बड़ा अपराध करने वाले बसपा नेता खुलेआम घूम रहे हैं.

सिंह ने कहा कि मायावती के प्रति विवादित टिप्पणी का उनकी नाबालिग बेटी, बूढ़ी मां और पत्नी से कुछ लेना-देना नहीं था, लेकिन इसके बावजूद मायावती के इशारे पर पूरी योजना से उनके सेनापति नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने उन्हें गाली दी.

गौरतलब है कि दयाशंकर सिंह पर आरोप है कि बीते महीने 19 जुलाई को उन्होंने मऊ में संवाददाताओं से बातचीत में बसपा प्रमुख मायावती के खिलाफ अपशब्द का इस्तेमाल किया था.

इस मामले में दयाशंकर सिंह के खिलाफ 20 जुलाई को लखनऊ के हजरतगंज थाने में मुकदमा दर्ज कराया गया था. इस विवाद के बाद बीजेपी ने उनको छह साल के लिये पार्टी से निकाल दिया था.

उसके बाद मायावती पर टिप्पणी से नाराज बसपा कार्यकर्ताओं ने 21 जुलाई को लखनऊ में प्रदर्शन के दौरान दयाशंकर सिंह की मां, पत्नी और बेटी के खिलाफ कथित तौर पर आपत्तिजनक नारे लगाये थे. इस मामले में मायावती तथा सिद्दीकी समेत कई लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था.

लखनऊ पुलिस और एसटीएफ ने 25 जुलाई को सिंह के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी होने के बाद उन्हें 29 जुलाई को बिहार के बक्सर जिले में गिरफ्तार किया गया था. गिरफ्तारी के कुछ दिन बाद ही उन्हें मऊ की अदालत से जमानत मिल गई थी.

First published: 8 August 2016, 12:16 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी