Home » इंडिया » Defaulters of Greater Noida Authority: More than Rs. 2,809 Crore due on 95 builders including Amrapali, ATS, Supertech, Omaxe
 

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के डिफॉल्टर्सः आम्रपाली, सुपरटेक, एटीएस, ओमेक्स समेत 95 बिल्डर्स पर 2,809 करोड़ बकाया

अमित कुमार बाजपेयी | Updated on: 9 September 2016, 14:53 IST

ग्रेटर नोएडा औद्योगिक विकास प्राधिकरण ने विभिन्न योजनाओं के डिफॉल्टर आवंटियों की एक सूची जारी की है. इनमें प्राधिकरण द्वारा अब तक लॉन्च की गई विभिन्न स्कीमों में प्लॉट आवंटन कराने वाले उन व्यक्तियों-संस्थाओं के नाम लिखे हुए हैं जिन्होंने प्राधिकरण को बाकी की रकम नहीं चुकाई है. 

नोएडा एक्सटेंशन यानी ग्रेटर नोएडा वेस्ट समेत ग्रेनो के तमाम सेक्टर्स में मौजूद कई ऐसे बिल्डर प्रोजेक्ट जिनमें फ्लैट खरीदारों-निवेशकों ने बुकिंग कराने के बाद बिल्डर के पास काफी रकम जमा करा दी है, के भी डिफॉल्टर्स इस सूची में शामिल हैं.

ग्रेटर नोएडा वेस्टः अनसुलझे सवालों के जवाब का इंतजार करते फ्लैट खरीदार

अगर बिल्डर स्कीम की बात करें तो इस सूची में कुल 95 डिफॉल्टर्स के नाम शामिल हैं. यह सूची उन डिफॉल्टर बिल्डर्स की है जिन्हें टेकजोन 4, सेक्टर 16बी/सी, बीटा 2, जीटा 1, सेक्टर 1/2/4/10, ओमेगा 1/2, ईटा 1, ओमीक्रॉन 3, चाई 4/5, पाई, पाई 2 में तमाम प्लॉट आवंटित किए गए हैं.

इस सूची के सबसे बड़े डिफॉल्टर्स में टेकजोन 4 स्थित आम्रपाली लेजर वैली प्रा. लि. पर करीब 325 करोड़ रुपये, आम्रपाली ड्रीम वैली पर 272 करोड़, आम्रपाली सेंचुरियन पार्क पर 210 करोड़, ओमेगा 2 में ओमेक्स कंस्ट्रक्शंस प्रा. लि. पर करीब 104 करोड़, सेक्टर 4 स्थित आम्रपाली स्मार्ट सिटी पर 222 करोड़, चाई 4 में एटीएस इंफ्रास्ट्रक्चर पर 124 करोड़, पाई और पाई 2 में यूनिटेक लिमिटेड पर करीब 240 करोड़ रुपये, सेक्टर 1 में सुपरटेक पर 17 करोड़ से ज्यादा की रकम बाकी है.

रीयल एस्टेट के बाजार में मंदी, कीमत 35 फीसदी तक हुईं कम

इसके अलावा बाकी की सूची यहां पर देखी सकती है. इस सूची के हिसाब से विभिन्न स्कीमों में आवंटन कराने वाले 95 बिल्डरों ने प्राधिकरण का 28 अरब 9 करोड़ 59 लाख 20 हजार 943 रुपये रोक रखा है. 

First published: 9 September 2016, 14:53 IST
 
अमित कुमार बाजपेयी @amit_bajpai2000

पत्रकारिता में एक दशक से ज्यादा का अनुभव. ऑनलाइन और ऑफलाइन कारोबार, गैज़ेट वर्ल्ड, डिजिटल टेक्नोलॉजी, ऑटोमोबाइल, एजुकेशन पर पैनी नज़र रखते हैं. ग्रेटर नोएडा में हुई फार्मूला वन रेसिंग को लगातार दो साल कवर किया. एक्सपो मार्ट की शुरुआत से लेकर वहां होने वाली अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शनियों-संगोष्ठियों की रिपोर्टिंग.

पिछली कहानी
अगली कहानी