Home » इंडिया » Defence Minister Rajnath Singh CDS General Bipin Rawat and 3 services chiefs meeting on situation in Ladakh
 

रक्षा मंत्री, CDS और तीनों सेना प्रमुखों की अहम बैठक, लद्दाख के हालातों को लेकर हुई चर्चा

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 June 2020, 15:11 IST

Defence Minister meeting with CDS and tri services chiefs: भारत और चीन (India and China) के बीच अभी भी तनाव बना हुआ है. इसी बीच रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Defence Minister Rajnath Singh) ने रविवार (Sunday) को चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (CDS) जनरल बिपिन रावत (General Bipin Rawat) और तीनों सेनाओं के प्रमुखों के साथ एक अहम बैठक की. जानकारी के मुताबिक, इस बैठक में लद्दाख (Ladakh) के हालातों को लेकर चर्ची हुई. बता दें कि हाल ही में चीन (China) और भारतीय जवानों (Indian Soldiers) के बीच हुई हिंसक झड़प में सेना को 20 जवान शहीद हो गए थे, साथ ही चीन के 43 जवानों के मारे जाने की भी खबर थी.

उसके बाद से दोनों देशों के बीच लगातार तनाव बने रहने की खबरें आ रही हैं. न्यूज एजेंसी पीटीआई-भाषा को सूत्रों ने रक्षामंत्री की बैठक के बाद बताया कि सशस्त्र बलों को वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर चीन की सेना के किसी भी प्रकार के आक्रामक रवैए से निपटने के लिए पूरी आजादी दी गई है. यही नहीं अब भारतीय बल पूर्वी लद्दाख और अन्य सेक्टर्स में भी चीन के किसी भी दुस्साहस का मुंह तोड़ जवाब देने के लिए पूरी तरह से तैयार रहेंगे. सूत्रों के मुताबिक, चीन के साथ लगती सीमा की रक्षा के लिए भारत अब से अलग सामरिक तरीके अपनाएगा.


कश्मीर से कन्याकुमारी तक योग करने की लोगों में लगी होड़, जवानों ने हजारों फुट ऊंचाई पर किया योग

बता दें कि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सीडीएस और तीनों सेना प्रमुखों के साथ बैठक ऐसे समय में की है, जब सोमवार को राजनाथ सिंह रूस के लिए रवाना होने वाले हैं. जहां वह 24 जीन को राजधानी मास्को में विजय दिवस सैन्य परेड को देखेंगे. सूत्रों ने न्यूज एजेंसी को बताया कि शीर्ष सैन्य अधिकारियों को जमीनी सीमा, हवाई क्षेत्र और रणनीतिक समुद्री मार्गों में चीन की गतिविधियों पर कड़ी नजर रखने के निर्देश दिए गए हैं. बता दें कि पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में भारत और चीनी सैनिकों के बीच चल रहे टकराव ने बीते सोमवार को हिंसक रूप ले लिया था.

पेट्रोल-डीजल की कीमत में फिर हुई बढ़ोतरी, 15वें दिन लगातार बढ़ी तेल की कीमत

PM मोदी और राष्ट्रपति के लिए लीची लेकर गया था अधिकारी, कोरोना पॉज़िटिव मिलने से मचा हड़कंप

वास्तविक नियंत्रण रेखा (LaC) पर चीन के साथ झड़प में भारत के कमांडिंग ऑफिसर (कर्नल) समेत 20 जवान शहीद हो गए थे. इस घटना में कई जवान गंभीर रूस से घायल भी हो गए थे. सेना के मुताबिक, यह झड़प जवानों के अपनी-अपनी जगहों से पीछे हटने के दौरान हुई थी. हालांकि, दोनों ओर से सैनिकों द्वारा कोई गोलीबारी नहीं की गई थी, दोनों ओर से पत्थर और डंडों से एक-दूसरे पर हमला किया गया था.

जम्मू-कश्मीर: जादिबल में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, तीन आतंकी ढेर

First published: 21 June 2020, 15:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी