Home » इंडिया » defence ministry inks rs 639 crore bulletproof jacket contract for army soldiers
 

इंडियन आर्मी का सपना हुआ पूरा, सालों के इंतजार के बाद मिलेगी बुलेट प्रूफ जैकेट

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 April 2018, 10:24 IST

सालों के इंतजार के बाद सेना को बुलेट प्रूफ जैकेट मिलने जा रही है. रक्षा मंत्रालय ने 639 करोड़ रुपये की लागत से 1.86 लाख बुलेट प्रूफ जैकेटों की खरीद के लिए एक रक्षा कंपनी के साथ अनुबंध पर हस्ताक्षर किया है. मंत्रालय ने एक बयान जारी कर कहा है कि अनुबंध को सफल फील्ड परीक्षणों के बाद अंतिम रूप दिया गया.

अपने बयान में रक्षा मंत्रालय ने कहा कि 1,86,138 बुलेट प्रूफ जैकेटों की खरीद के लिए पूंजी खरीद के जरिये एक बड़े अनुबंध पर हस्ताक्षर किया गया है. मंत्रालय ने बताया कि अनुबंध स्वदेशी रक्षा उत्पादक एसएमपीपी प्राइवेट लिमिटेड ने हासिल किया है. इस सौदे को मोदी सरकार की मेक इन इंडिया योजना के तहत किया गया है. सौदे को घरेलू उद्योगों को बढावा दिए जाने की दिशा में बड़े कदम के रूप में देखा जा रहा है.

 

इसमें कहा गया है कि नयी बुलेटप्रूफ जैकेट लड़ाई में सैनिक को 360 डिग्री संरक्षण मुहैया कराएगी जिसमें हार्ड स्टील कोर बुलेट से संरक्षण भी शामिल है.

गौरतलब है कि भारतीय सेना की ओर से 9 साल पहले रक्षा मंत्रालय को बुलेट प्रूफ जैकेट का अनुरोध किया गया था. लेकिन अभी तक इसे अमलीजामा नहीं पहनाया जा सका था. अब इसे मंजूरी मिल गई है. सरकार ने इस बात को स्वीकार किया कि साल 2009 में ही सेना को 1.86 लाख बुलेटप्रुफ जैकेटों की जरूरत थी, लेकिन ये पूरा नहीं हो सका.

सरकार ने कहा कि जैकेट के लिए कई बार कोशिश की गई लेकिन सेना द्वारा कराए गए ट्रायल में किसी भी कंपनी का बुलेट प्रूफ जैकेट पैमाने पर खरा नहीं उतरा, जिसके चलते जैकेट नहीं खरीदे जा सके. मंत्रालय ने बताया कि नई जैकेट पूरी तरह से अत्याधुनिक हैं.

First published: 10 April 2018, 10:24 IST
 
अगली कहानी