Home » इंडिया » Defence ministry spokesperson sent on leave After a controversial tweet
 

रक्षा मंत्रालय की प्रवक्ता को एक ट्वीट करना पड़ा भारी, छुट्टी पर भेजा गया

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 October 2018, 8:20 IST

रक्षा मंत्रालय की प्रवक्ता स्वर्णश्री राव राजशेखर को एक ट्वीट करना भारी पड़ गया. उनके एक ट्वीट से हुए विवाद और हंगामे के बाद शुक्रवार को छुट्टी पर चली गईं. इसकी जानकारी खुद रक्षा मंत्रालय ने दी. मंत्रालय ने इस मामले में ट्वीट करते हुए लिखा, ''कर्नल अमन आनंद रक्षा मंत्रालय के कार्यवाहक आधिकारिक प्रवक्ता होंगे क्योंकि प्रवक्ता अवकाश पर चली गयी हैं.''

रक्षा मंत्रालय की प्रवक्ता स्वर्णश्री ने पूर्व नौसेना प्रमुख एडमिरल (सेवानिवृत्त) अरुण प्रकाश की एक टिप्पणी में जवाब देते हुए गलती से एक ट्वीट पोस्ट कर दिया जिसमें सैन्य अधिकारियों द्वारा विशेषाधिकारों के दुरुपयोग की आलोचना की गई थी.

सूत्रों की मानें तो ट्वीट के बाद शुरू हुए विवाद के कारण राजशेखर को अवकाश पर जाने को कहा गया है. राजशेखर के उस ट्वीट पर पूर्व सैन्य अधिकारियों ने तीखी प्रतिक्रिया दी. पूरे मामले में हुए विवाद के बाद उन्होंने ट्वीट हटाते हुए कहा कि ट्वीट गलती से हो गया और इसके लिए बहुत खेद है.

 

इससे पहले, एडमिरल प्रकाश ने एक फोटो को री-ट्वीट किया था जिसमें सेना के एक वित्तीय अधिकारी की आधिकारिक कार की बोनट पर एक सैन्य ध्वज दिखाया गया था. इस फोटो पर प्रकाश ने ट्वीट में लिखा, ''हालांकि, किसी असैन्य व्यक्ति द्वारा सेना कमान के चिह्न का दुरूपयोग संज्ञेय अपराध नहीं है, इस शख्स को जीओसी इन सी द्वारा फटकार लगाए जाने की जरूरत है, जिसके वह वित्तीय सलाहकार हैं.''

इसी ट्वीट पर जवाब देते हुए राजशेखर ने ट्वीट किया, जिसमें लिखा था, ''अधिकारी रहने के दौरान आपके आवास में जवानों के साथ हुए दुरूपयोग का क्या कहेंगे सर? और फौजी गाड़ियों में बच्चों को स्कूल छोड़ने एवं वापस घर लाने पर क्या कहेंगे? सरकारी गाड़ियों से मैडम के शॉपिंग करने के लिए जाने की बात नहीं भूलिए. और वे अंतहीन पार्टियां करना.उनके लिए कौन भुगतान करता है.'' विवाद होने के बाद राजशेखर ने इस ट्वीट को हटा दिया है.

First published: 27 October 2018, 8:17 IST
 
अगली कहानी