Home » इंडिया » Delhi Air Pollution level reached hazardous level, Ban on trucks entry in delhi
 

दिवाली के जश्न में उड़ी SC के आदेश की धज्जियां, पटाखों से जहरीली हुई दिल्ली की हवा

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 November 2018, 10:04 IST

दिवाली के जश्न मनाने के लिए फोड़े गए पटाखों के कारण आज दिल्ली में सांस लेना भी मुश्किल हो गया है. पटाखों पर की गई सख्ती काफी हद तक बेअसर दिखाई दी. देश की सर्वोच्च अदालत के समय सीमा के निर्देशों के बाद भी कुछ जगहों पर पटाखे फोड़े गए. पटाखों के कारण हवा में फैले प्रदुषण का स्तर आज खतरनाक स्तर को पार कर चुका है. सुबह से ही चारो तरफ स्मॉग यानी धुंध की चादर बिछी हुई है. कई लोगों ने प्रदूषित हवा के कारण आंखों और सीने में जलन की भी शिकायत की है. इतना ही नहीं सड़कों पर दुर्घटना के खतरे भी बढ़ गए हैं. क्योंकि सुबह के समय स्मॉग के कारण विजिबिलिटी भी काफी कम है.

आज मॉर्निंग वाक के लिये जाने वाले लोगों की संख्या में भी भारी कमी देखने को मिली. आंकड़ों के मुताबिक़ आज दिल्ली के लोधी रोड पर लगे एयर पॉल्यूशन मॉनिटरिंग स्टेशन पर आज सुबह पीएम-2.5 और पीएम-10 का स्तर 500- 500 माइक्रो क्यूबिक था. यह बेहद खतरनाक स्थिति है. गौरतलब है कि पीएम 2.5 बारिक कण होते हैं, पीएम 2.5 बढ़ने से ही धुंध बढ़ती है.

दीवाली पर इस मंदिर में खुलता है कुबेर का खजाना, प्रसाद में मिलते हैं सोने के गहनें

पटाखों के दौर के बाद देर रात में ही प्रदूषण का स्तर काफी बढ़ गया. रात 3 बजे बजे एयर क्वालिटी इंडेक्स (एक्यूआई) 999 के आखिरी स्तर पर पहुंच गया था. जो कि खतरे का आखिरी निशान है. इसी से अंदाजा लगाया जा सकता है कि दिल्ली में वायु प्रदुषण उस स्तर पर है जिसके बाद एयर क्वालिटी को मॉनिटर नहीं किया जा सकता.

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के अनुसार शाम सात बजे एक्यूआई 281 था. रात आठ बजे यह बढ़कर 291 और रात नौ बजे यह 294 हो गया. वहीँ पटाखे जलाने को लेकर सुप्रीम कोर्ट के आदेशों की जम कर अनदेखी की गई. पटाखे फोड़ने के मामले में मयूर विहार एक्सटेंशन, लाजपत नगर, लुटियंस दिल्ली, आईपी एक्सटेंशन, द्वारका, नोएडा सेक्टर 78 समेत अन्य स्थानों से कोर्ट के आदेश का उल्लंघन किये जाने की सूचना मिली.


समय-सीमा का उल्लंघन किये जाने की बात स्वीकार करते हुए दिल्ली पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने देर रात कहा, ‘‘हम हालात की निगरानी कर रहे हैं.’’ अधिकारी ने कहा, ‘‘उल्लंघन के छिटपुट मामले हुए हैं. कुछ इलाकों में लोग रात आठ से 10 बजे की समय-सीमा के बाद भी पटाखे फोड़ते नजर आए. उल्लंघन के ऐसे मामलों की ठीक-ठीक संख्या का पता लगाया जाना बाकी है. हालांकि, हम उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेंगे.’’

First published: 8 November 2018, 8:04 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी