Home » इंडिया » Delhi doctors strike bengal dma mamata banerjee bjp aims update
 

बंगाल की लड़ाई पहुंची दिल्ली, अब इलाज नहीं प्रदर्शन करेंगे डॉक्टर्स, AIIMS पर भी असर

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 June 2019, 9:11 IST

लोकसभा चुनाव से शुरू हुई पश्चिम बंगाल की राजनीति की लड़ाई अब सिस्टम की लड़ाई बन गई है. बंगाल में एक यूनियर डॉक्टर के साथ मारपीट की घटना हुई है, जिसके बाद से मेडिकल एसोसिएशन के लोग काफी गुस्साए हुए हैं. गुस्साए डॉक्टर हड़ताल पर चले गए, जिसके बाद ममता बनर्जी ने इन पर हमलावार किया.

अब धीरे-धीरे बंगाल के डॉक्टर्स की हड़ताल का असर पूरे देश में देखने को मिल रहा है. देश की राजधानी दिल्ली में दिल्ली मेडिकल एसोसिएशन (DMA) ने भी हड़ताल बुलाई है, जिसका असर अब AIIMS जैसे बड़े-बड़े अस्पतालों में भी होने लगा है. 

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के डॉक्टर्स ने गुरुवार को बंगाल की घटना के बाद पट्टी बांधकर प्रदर्शन किया और 14 जून को हड़ताल पर जाने की बात कही. अब दिल्ली के डॉक्टर्स भी अस्पतालों में मरीजों का इलाज करते नहीं, बल्कि प्रदर्शन करते नजर आ रहे हैं.

ये मामला इतना ज्यादा बढ़ गया है कि कोर्ट तक पहुंच गया है. इस हड़ताल को लेकल कलकत्ता हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की गई है, जिसपर आज सुनवाई होगी.

अंतरिक्ष की दुनिया में भारत की बड़ी उड़ान, खुद का स्पेस स्टेशन लॉन्च करेगा ISRO

ममता सरकार करेगी बड़ कार्रवाई!

बंगाल के जूनियर डॉक्टर्स पर पश्चिम बंगाल की सरकार कड़ी कार्रवाई करने की तैयारी में लगी हुई है. इस बारे में गुरुवार को पश्चिम बंगाल मेडिकल काउंसिल के अध्यक्ष निर्मल माजी ने कहा,  "हड़ताली डॉक्टर अगर काम पर नहीं लौटे तो उनका पंजीयन रद्द हो सकता है और उनका इंटर्नशिप पूरा होने का पत्र रोक दिया जाएगा."

माजी ने इस हड़ताल का जिम्मेदार विपक्षी पार्टी को ठहराया है. उन्होंने विपक्षी पार्टी पर जूनियर डॉक्टर्स को भड़काने का आरोप लगाते हुए कहा, "विपक्षी दल ममता बनर्जी सरकार की मुफ्त चिकित्सा सेवा योजना को बंद कराना चाहते हैं."

Video: फारुक अब्दुल्ला के सामने भीड़ ने कश्मीर में लगाए मोदी-मोदी के नारे, होना पड़ा खामोश

क्यों हो रहा ये हड़ताल?

बंगाल से डॉक्टर्स के हड़ताल की घटना शुरू हुई है. यहां के नील रत्न सरकार (NRS) मेडिकल कॉलेज में 10 जून को करीब 5 बजे एक 75 वर्षीय व्यक्ति की इलाज के दौरान मौत हो गई. इस हादसे से गुस्साए परिजनों ने मौके पर मौजूद डॉक्टर्स को गालियां देनी शुरू कर दी. इसके बाद डॉक्टरों ने इन लोगों को माफी मांगने के लिए कहा और कहा कि जब तक ये माफी नहीं मांगते तब तक प्रमाण पत्र नहीं देंगे.

इसके बाद हिंसा और ज्यादा भड़क गई. इसके कुछ देर बाद मृतक के परिजन हथियारों के साथ भीड़ लेकर आए और हॉस्टल में हमला कर दिया. इस हॉस्टल में दो जूनियर डॉक्टर गंभीर रूप से घायल हुए. वहीं, कई लोग घायल हो गए.

ममता बनर्जी ने इस घटना के बाद डॉक्टरों की निंदा की, जिसके बाद मामला और ज्यादा भड़क गया. इस मामले में अबतक NRS कॉलेज के प्रिंसिपल और वाइस प्रिंसिपल अपना इस्तीफा सौंप चुके हैं.

अमित शाह ही इस साल के अंत तक संभालेंगे बीजेपी की कमान, जानें क्या है कारण

First published: 14 June 2019, 9:11 IST
 
अगली कहानी