Home » इंडिया » Delhi: J&K CM Mehbooba Mufti meets PM Narendra Modi
 

पीएम मोदी से मुलाकात के बाद बोलीं महबूबा- घाटी में उकसाने वालों के बच्चे महफूज

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 August 2016, 12:11 IST
(पीआईबी ट्विटर)

जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की. महबूबा शुक्रवार को ही दिल्ली पहुंच गई थीं. पीएम और सीएम महबूबा के बीच कश्मीर में जारी तनाव पर मंथन हुआ.

कश्मीर घाटी में पिछले 50 दिन से कर्फ्यू जारी है. पीएम मोदी से मुलाकात के बाद महबूबा मुफ्ती ने कहा, "हम सभी लोगों की तरह ही पीएम मोदी भी जम्मू-कश्मीर के हालात पर काफी चिंतित हैं." 

'उकसाने वालों के बच्चे सुरक्षित'

मुलाकात के बाद महबूबा मुफ्ती ने पाकिस्तान को कठघरे में खड़ा किया. महबूबा ने घाटी में बिगड़े हालात के लिए पाकिस्तान को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि पाकिस्तान खुलकर लोगों को उकसा रहा है और तनाव भड़काने की कोशिश में जुटा है.

महबूबा ने कहा, "हमारे युवकों को उकसाना बंद हो. उकसाने वालों के बच्चे सुरक्षित हैं. लगता है कहीं न कहीं कुछ जमा हुआ है. जो लोग मर रहे हैं, वो हमारे बच्चे हैं. मासूमों का इस्तेमाल किया जा रहा है."

'कर्फ्यू न लगाएं तो क्या करें?'

मीडिया से बातचीत के दौरान महबूबा मुफ्ती भावुक हो गईं. महबूबा ने कहा कि जितनी तकलीफ हमें है उतनी ही पीएम मोदी को भी है. अगर हम कर्फ्यू न लगाएं तो क्या करें?

महबूबा मुफ्ती ने साथ ही कहा, "जम्मू-कश्मीर के लोग शांति से जीना चाहते हैं. हालात सुधारने के लिए सबका साथ चाहिए. राज्य की जनता मुझे मदद दे."

पीआईबी ट्विटर

महबूबा मुफ्ती की 30 बड़ी बातें

1. कश्मीर घाटी में हिंसा सबके लिए चिंता.

2. पीएम नरेंद्र मोदी भी काफी चिंतित हैं.

3. जितनी तकलीफ हमें उतनी ही पीएम को भी.

4. पीएम मोदी शांति बहाली के पक्ष में हैं.

5. जम्मू-कश्मीर में शांति पीडीपी-भाजपा का लक्ष्य.

6. हालात सुधारने के लिए सबका साथ चाहिए.

7. पीएम मोदी और गृह मंत्री ने कदम उठाया.

8. लगता है कहीं न कहीं कुछ जमा हुआ है.

9. कैंपों का घेराव करने वालों से बात कैसे?

10. अगर कर्फ्यू न लगाएं तो हम क्या करें.

11. जो लोग मर रहे हैं वो हमारे बच्चे हैं.

12. जम्मू-कश्मीर के लोग शांति से जीना चाहते हैं.

13. जम्मू-कश्मीर की जनता मुझे मदद दे.

14. बात उनसे हो जो शांतिपूर्ण हल चाहते हैं.

15. अब पाकिस्तान के कदम उठाने की बारी.

16. पत्थर मारने के लिए उकसाया जाता है.

17. हमारे युवाओं को उकसाना बंद हो.

18. उम्मीद है कि जल्द खून-खराबे से निकलेंगे.

19. लोगों को उकसाने वालों के बच्चे सुरक्षित हैं.

20. मासूमों का इस्तेमाल किया जा रहा है.

21. पाकिस्तान हालत को ठीक करने के बजाए उकसाने में जुटा.

22. एक मां के तौर पर मुझे पीड़ा होती है.

23. लोग अपने बच्चों से कहते हैं कि पुलिस पर पत्थर फेंको.

24. क्या पत्थरबाजी और हिंसा से समस्या का हल होगा?

25. अलगाववादियों को भी मदद के लिए आगे आना चाहिए.

26. निर्दोष युवाओं की जिंदगी बचाने के लिए वे भी मदद करें.

27. दुख के साथ कहना पड़ रहा है पाक ने बार-बार मौका खो दिया.

28. पीएम मोदी ने नवाज शरीफ को शपथ ग्रहण में बुलाया, खुद लाहौर गए.

29. मुफ्ती साहब कहते थे अभी हालात नहीं बदले तो कभी नहीं बदलेंगे.

30. बदकिस्मती से इसके बाद में पठानकोट आतंकी हमला हो गया.

First published: 27 August 2016, 12:11 IST
 
अगली कहानी