Home » इंडिया » Delhi: National Museum of Natural History destroyed in major fire at FICCI complex
 

दिल्ली: नेचुरल हिस्ट्री म्यूजियम में भीषण आग, अहम दस्तावेज जलकर खाक

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 April 2016, 20:39 IST

दिल्ली के मंडी हाउस स्थित फिक्की ऑडिटोरियम भवन परिसर में म्यूजियम ऑफ नेचुरल हिस्ट्री की इमारत में मंगलवार को भीषण आग लग गई. मौके पर दमकल की 40 गाड़ियां पहुंचीं. 

आग पर काबू पा लिया गया है, लेकिन आग की चपेट में आने से नेचुरल हिस्ट्री म्यूजियम की बिल्डिंग को काफी नुकसान पहुंचा है. वहीं आग पर काबू पाते वक्त दमकल विभाग के पांच कर्मचारी भी जख्मी हो गए.  

fire 2

पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) ने बताया कि आग इमारत की ऊपरी मंजिल में लगी और कुछ ही देर में ये आग पूरी इमारत में फैल गई. घटनास्थल पर फायर ब्रिगेड के 40 वाहनों ने मिलकर चार घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पा लिया.

डीसीपी ने बताया कि हादसे में किसी की जान नहीं गई. अग्निशमन विभाग ने घायलों को राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया है. आग लगने की वजह का अभी पता नहीं चल सका है.

फायर सिस्टम था बेकार !


म्यूजियम में तीसरे फ्लोर तक प्रदर्शनी चलती है. पांचवें और छठे फ्लोर पर म्यूजियम के डायरेक्टर, साइंटिस्ट से लेकर तमाम विभागों के दफ्तर बने हैं. इस आग से भारी नुकसान की आशंका जताई जा रही है. हादसे में म्यूजियम का काफी सामान और दस्तावेज जलकर खाक हो गए.

म्यूजियम के पास ही फेडरेशन ऑफ इंडियन चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (फिक्की) की इमारत है. हालांकि फिक्की ऑडिटोरियम को कोई नुकसान नहीं पहुंचा है. 

हादसे के बाद लापरवाही की बात भी सामने आ रही है. दमकल विभाग के अधिकारियों का कहना है कि इमारत में फायर सिस्टम काम नहीं कर रहा था.

34 म्यूजियम का होगा फायर ऑडिट


इस बीच केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर भी मौके पर हालात का जायजा लेने पहुंचे. जावड़ेकर ने कहा कि देशभर में इस तरह के 34 म्यूजियम हैं, जो उनके मंत्रालय के तहत आते हैं उनकी सुरक्षा जांच होगी.

जावड़ेकर ने ऐसे सभी म्यूजियम के फायर ऑडिट का आदेश दिया है. जावड़ेकर ने हादसे को दुखद बताते हुए कहा कि नेचुरल हिस्ट्री म्यूजियम देश की विरासत है. दमकल विभाग के कर्मचारी अब भी मौके पर डटे हैं.

JAVDEKAR

एनएमएनएच में तीन गैलरियां


नेशनल म्यूजियम ऑफ नेचुरल हिस्ट्री (एनएमएनएच) में एग्जिबिशन के लिए तीन गैलरियां हैं, जिन्हें इस हादसे में भारी नुकसान हुआ है.

एनएमएनएच में इंट्रोडक्शन ऑफ नेचुरल हिस्ट्री, नेचर्स नेटवर्क-इकोलॉजी और कन्जर्वेशन जैसी तीन गैलरियां हैं.
म्यूजियम को देखने के लिए रोजाना हजारों लोग आते हैं.

नेचुरल हिस्ट्री म्यूजियम देश के उन दो प्रमुख म्यूजियम में से एक है, जो भारत में पर्यावरण से जुड़ी हुई चीजों के दस्तावेज संरक्षित रखता है. आजादी की 25वीं सालगिरह पर इसकी स्थापना 1972 मेें हुई थी.

म्यूजियम को बनाने का मकसद लोगों में पर्यावरण को लेकर जागरूकता बढ़ाना है.कई साल की कवायद के बाद 5 जून 1978 को विश्व पर्यावरण दिवस के मौके पर इसे आम जनता के लिए खोला गया था.


First published: 26 April 2016, 20:39 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी