Home » इंडिया » Delhi: new twist on 11 bodies found in burari death tragedy case
 

दिल्ली: बुराड़ी में मिले 11 संदिग्ध शव की डेथ मिस्ट्री का रहस्य जानकर दहशत में आ जाएंगे आप

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 July 2018, 8:41 IST

दिल्ली के बुराड़ी इलाके में एक ही घर से 11 लोगों की लाश बरामद हुई थी. कुछ लोगों के हाथ-पैर रस्सी से बंधे थे. मृतकों में 7 महिलाएं और चार पुरूष शामिल थे. ये सभी शव घर के अंदर लटके हुए थे और इनके मुंह और आंखों पर पट्टी बंधी हुई थी. इस डेथ मिस्ट्री में अब काफी बातें सामने आ रही हैं. घर में मिले दो रजिस्टर में ऐसी बातें सामने आ रही हैं जिसके बारे में जान आप दहशत में आ जाएंगे.

घर से मिले रजिस्टर से ऐसा लगता है कि परिवार किसी साधना में लगा हुआ था. पुलिस को मिले दो रजिस्टर से एक में पूरे पेज पर लिखा हुआ है कि परमात्मा में लीन हो रहे हैं. वह बुरी चीजों को न देखना चाहते हैं और न ही सुनना चाहते हैं. पीड़ित परिवार किस गुरु को मानता था. पुलिस जांच कर रही है कि परिजनों को खुदकुशी के लिए कहीं उकसाया तो नहीं गया था.

जो-जो बातें रजिस्टर में लिखी मिली थीं वैसे ही परिवार के सदस्य लटके हुए थे. रजिस्टर में एक में एक पेज पूरा हिंदी में लिखा हुआ है. एक ही पेज में विस्तार से सारी बातें लिखी हुई हैं. लिखा है कि परमात्मा में लीन हो रहे हैं. आंखें बंद कर रहे हैं, ताकि भारी व बुरी वस्तु को न देख सकें.

कानों में रुई भी लगी है ताकि बुरी बातों को सुन न सकें. वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि रजिस्टर में यह भी लिखा हुआ है कि कैसे मुंह पर टेप लगानी है. कैसे कानों में रुई लगानी है और कैसे मुंह पर रुमाल कैसे बांधना है. रजिस्टर के आधार पर पुलिस अधिकारी इसे खुदकुशी की घटना बता रही है.

पढ़ें- 3,800 करोड़ खर्च करने के बाद भी सरकार को नहीं पता, गंगा कितनी साफ हुई!

पुलिस की मानें तो परिवार के घर से मिले सबूत इस बात की ओर इशारा कर रहे हैं कि मृतकों का अध्यात्म की ओर ज्यादा झुकाव था. यही नहीं परिवार तांत्रिक विद्या पर भी विश्वास करता था, इसलिए माना जा रहा है कि मोक्ष की प्राप्ति के लिए अंधविश्वास में सभी ने स्वेच्छा से मौत को गले लगा लिया. पुलिस अधिकारी भी इस घटना को अध्यात्म से जोड़कर देख रहे हैं.

First published: 2 July 2018, 8:36 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी