Home » इंडिया » Delhi police announce reward rs 25000 on the man who was allegedly masturbating inside bus beside du student
 

DTC में मास्टरबेट करने वाले शख्स का पता बताने पर दिल्ली पुलिस देगी इनाम

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 February 2018, 13:19 IST

कुछ दिन पहले दिल्ली युनिवर्सिटी की छात्रा के बगल में बैठकर मास्टरबेट करने वाले व्यक्ति को लेकर दिल्ली पुलिल ने एक पोस्टर जारी किया है. दिल्ली पुलिस ने उस व्यक्ति का पता बताने वाले व्यक्ति को 25 हजार रुपए इनाम देने की घोषणा की है.

दिल्ली पुलिस के इस पोस्टर में कहा गया है कि आरोपी व्यक्ति के बारे में सूचना देने वाले व्यक्ति को 25 हजार नकद इनाम दिया जाएगा. पोस्टर मेें यह भी लिखा है कि ये सूचना देने वाले व्यक्ति की पहचान भी गोपनीय रखी जाएगी. दरअसल 10 फरवरी को 6 घंटे इंतजार के बाद वसंत विहार थाने में आरोपी के खिलाफ केस दर्ज किया गया था लेकिन अभी तक कोई गिरफ्तार नहीं हुआ है. तब से आरोपी भी फरार चल रहा है.

दरअसल 7 फरवरी को डीटीसी की बस में 20 साल की छात्रा के साथ ये शर्मनाक घटना घटी थी. इंग्लिश में ऑनर्स कर रही फाइनल ईयर की छात्रा ने बताया था कि किसी ने उसकी मदद नहीं की.

न्यूज एजेंसी एएनआई से बातचीत में लड़की ने बताया था, " मैं डीटीसी की खचाखच भरी में सफर कर रही थी तभी मेरे पीछे बैठा व्यक्ति मास्टरबेट(हस्त मैथुन) करने लगा. मैं ये देखकर चौंक गई और मैंने सारी घटना का वीडियो बना लिया और सोशल मीडिया में पोस्ट कर दिया. मैं लोगों को इस वीडियो के जरिए जागरुक करना चाहती हूं. इस प्रकार के यौन शो।ण को बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है."

 

लड़की के हिम्मत दिखाने के बाद बंसत विहार पुलिस स्टेशन में इस शख्स के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गई थी. हालांकि इस मामले में कोई गिरफ्तारी अभी तक नहीं हुई है. पुलिस के मुताबिक 7 फरवरी को लड़की जब घर को लौट रही थी तब उसके ठीक सामने बैठे व्यक्ति ने ये हरकत की. आरोपी शख्स ने लोगों की नजर से बचने के बैग का इस्तेमाल किया और लड़की को अपना प्राइवेट पार्ट दिखाने लगा.

 

शिकायत करने वाली छात्रा ने दावा किया कि उसने उसकी बदतमीजी को नजरअंदाज किया पर जब वो पैंट की जिप उताकर मास्टरबेट करने लगा तो वो सकते में आ गई. मैंने तुरंत लोगों को ये बात बताई पर कोई मेरी बात समझ नहीं पाया. इसके बाद उस शख्स ने मुझसे शांत होने को कहा और थोड़ी देर बाद उतर गया. लड़की ने इसके बाद पुलिस को पूरी घटना बताई.

पीड़िता ने दिल्ली पुलिस, पुलिस आयुक्त, मुख्यमंत्री, महिला आयोग को ट्विटर पर टैग करते हुए ट्वीट किया था. लेकिन पीड़िता ने आरोप लगाया था कि महिला आयोग के अलावा किसी ने उसकी मदद नहीं की थी.

First published: 17 February 2018, 12:20 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी