Home » इंडिया » Delhi Police Personal Protest outside Headquarter against Lawyers
 

वकीलों द्वारा साथियों की पिटाई के बाद पुलिसकर्मियों का दिल्ली पुलिस मुख्यालय के बाहर प्रदर्शन

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 November 2019, 19:35 IST

तीस हजारी कोर्ट परिसर में पार्किंग को लेकर वकीलों और दिल्ली पुलिस कर्मियों के बीच हुई हिंसा का मामला तूल पकड़ता जा रहा है. दिल्ली पुलिस के हजारों पुलिस कर्मियों ने सोमवार को वकीलों द्वारा बुलाए गए बंद के दौरान उनके साथियों के साथ हुई मारपीट के कारण मंगलावर को दिल्ली पुलिस मुख्यालय के बाहर प्रदर्शन किया.

दिल्ली के स्पेशल पुलिस कमिश्नर आरएस कृष्णा ने प्रदर्शनकारियों से अपील की हैं कि वो अपना धरना खत्म करते वापस अपने अपने कामों पर लौट जाए लेकिन प्रदर्शनकारी अभी भी अड़े हुए है. आरएस कृष्णा ने प्रदर्शनकारियों से अपील करते हुए कहा,'आपकी सभी मांगों पर विचार किया जा रहा है. इस घटना में जो भी पुलिसकर्मी घायल हुए हैं, उनका इलाज दिल्ली पुलिस कराएगी. साथ ही घायलों को 25 हजार रुपए मुआवजा भी दिया जाएगा. ' बता दें, दिल्ली पुलिस कर्मियों का प्रदर्शन बीते छह घंटे से जारी हैं लेकिन प्रदर्शनकारी हटने का नाम नहीं ले रहे हैं. इस दौरान उन पुलिस कर्मियों से 6 सीनियरों अफसरों की ओर से प्रदर्शन खत्म करने की अपील की गई है.

खबरों की मानें को इस पूरे मामले पर गृह मंत्रालय लगातार अपनी नजर बनाए हुए है. इसी सिलसिले में गृह सचिव अजय भल्ला केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मिले है. उन्होंने इस पूरे मामले से अमित शाह वो अवगत कराया है और पूरी जानकारी दी है. दूसरी तरफ दिल्ली के एलजी अनिल बैजल ने अधिकारिक बयान जारी किया है. एल जी ने प्रदर्शनकारियों से कहा है कि घायल हुए पुलिस कर्मियों और वकीलों को बेहतर स्वास्थय सुविधा दी जाएगी. साथ ही घायल पुलिस वालों को उचित मुआवजा भी दिया जाएगा.

एक तरफ जहां पुलिस कर्मी मुख्यालय के बाहर धरना दे रहे हैं वहीं दूसरी ओर उनके परिजनों ने दिल्ली दिल्ली-चंडीगढ़ नेशनल हाईवे को जाम कर दिया है. पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंचकर पुलिसकर्मियों के परिजनों से जाम खुलनावे के लिए अपली कर रहे है. दिल्ली-चंडीगढ़ नेशनल हाईवे पर प्रदर्शन के कारण काफी लंबा जाम लग गया है. इतना ही नहीं कुछ पुलिसकर्मियों के परिजनों ने इंडिया गेट पर कैंडल मार्च निकालकर अपना विरोध जताया है.

दिल्ली पुलिस मुख्यालय के बाहर प्रदर्शन कर रहे पुलिस कर्मियों ने पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए जमकर नारेबाजी की. इस दौरान पुलिस आयुक्त इस्तीफा दो, पुलिस कमिश्नर कैसा हो किरण बेदी जैसा हो, के कारण लगाए है. खबरों की मानें तो, शाम 6 बजे हजारों पुलिस कर्मियों दवारा इंडिया गेट पर कैंडल मार्च भी निकाला जाएगा.

मंगलवार सुबह प्रदर्शन कर रहे पुलिस कर्मियों से बात करते हुए पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक ने सभी से काम पर लौटने की अपील की. अमूल्य पटनायक ने कहा,'यह दिल्ली पुलिस के लिए परीक्षा, प्रतीक्षा और अपेक्षा की घड़ी है. यह याद रखें कि हम अपना बर्ताव कानून के रखवाले की तरह करें.' साथ ही उन्होंने कहा कि पुलिस वालों से मारपीट करने वालों के खिलाफ कार्रवाई होगी. पुलिस कमिश्नर ने पुलिसकर्मियों से काम पर लौट जाने की भी अपील की.

हालांकि कमिश्नर की अपील का प्रदर्शनकारी पुलिस कर्मियों पर कोई असर नहीं हुआ. वहीं दूसरी तरफ समय के साथ साथ पुलिस कर्मियों की ताददा बढ़ती चली गई. इस दौरान पुलिस कर्मियों ने तीस हजारी कोर्ट में हुए बवाल के बाद सस्पेंड किए गए जवानों की दोबारा से बहाली हो. साथ ही प्रदर्शन कर रहे पुलिस कर्मियों ने दोषी वकीलों पर तत्काल कार्रवाई की मांग कर रहे है.

न्यूज एजेंसी एनआई की खबर के मुताबिक साकेत कोर्ट में पुलिस कर्मी से हुई मारपीट के बाद इस मामले में दो एफआईआर दर्ज की गई है.

वहीं पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक ने इस पूरे मामले पर जानकारी देते हुे कहा,'उन घटनाओं में एफआईआर दर्ज की गई है जिनमें पुलिस कर्मियों के साथ मारपीट की गई थी. हम इन घटनाओं के कारण (पुलिस कर्मियों के) गुस्से को संबोधित कर रहे हैं. चर्चा चल रही है, वरिष्ठ अधिकारी सभी चिंताओं को दूर कर रहे हैं.'

 

दिल्ली पुलिस कर्मियों के प्रदर्शन के बीच गृह मंत्रायल ने इस मामले में एक रिपोर्ट भी मांगी है. बताया जा रहा है कि दिल्ली पुलिस ने इस मामले में मंत्रालय को अपनी रिपोर्ट सौंप दी है. जबकि दिल्ली के उपराज्यपाल ने वरिष्ठ अधिकारियों की एक बैठक बुलाई है. जबकि दूसरी तरफ बांर काउंसिल ऑफ इंडिया के अध्यक्ष मनन मिश्रा ने साफ तौर पर कहा है कि दोषी वकीलों पर एक्शन लिया जाएगा. साथ ही उन्होंने सभी बार काउंसिलों को पत्र लिखकर हड़ताल पर फैसला लेने को कहा है.  

वहीं यह मामला राजनीतिक भी होता जा रहा है. कांग्रेस पार्टी ने इस मामले पर भाजपा सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि 72 साल में पहली बार दिल्ली पुलिस ने दिल्ली पुलिस का मुख्यालय घेरा, पुलिस कर रही विरोध प्रदर्शन. क़ानून व्यवस्था का निकला जनाजा, गृह मंत्री, श्री अमित शाह कहां गुम हैं?'

दिल्ली में दम घोटू प्रदूषण से परेशान हैं लोग, पर्यावरण मंत्री चाहते हैं आप सुने संगीत!

First published: 5 November 2019, 15:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी