Home » इंडिया » delhi: private school go to the LG door over govt take over notice
 

अधिग्रहण से हड़के प्राइवेट स्कूल अपनी जंग लेकर पहुंचे जंग के दरवाजे

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 April 2016, 23:05 IST

दिल्ली की केजरीवाल सरकार के दो प्राइवेट स्कूलों के टेकओवर के नोटिस देने के बाद स्कूल प्रशासन ने इस मामले में दिल्ली के उपराज्यपाल नजीब जंग से हस्तक्षेप की गुहार लगाई है. 

दिल्ली सरकार ने कई तरह की वित्तीय अनियमितता पाए जाने पर मैक्सफोर्ट स्कूल की दो ब्रांच को टेकओवर करने का नोटिस दिया था.

इस मामले में स्कूल प्रशासन द्वारा जारी एक बयान में कहा है कि दिल्ली सरकार का यह कदम दुर्भावनापूर्ण, गलत और अतार्किक है. दिल्ली सरकार ने हमें गलत तरिके से नोटिस दिया है, जो तथ्यों से परे और पूरी तरह से बेबुनियाद हैं.

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने अभिवावकों की शिकायत के बाद मैक्सफोर्ट के रोहिणी और पीतमपुरा ब्रांच को टेकओवर करने का नोटिस दिया था.

सरकार का आरोप है कि मैक्सफोर्ट स्कूल्स की दोनों ब्रांच में ईडब्लूएस एडमिशन में धांधली, वित्तीय अनियमितता, टीचर्स का फर्जी रिकॉर्ड रख कर सरकार को गुमराह करने की कोशिश हो रही थी.

स्कूल ने अपने बयान में कहा है कि हम सरकार के इस फैसले के खिलाफ एलजी के पास गए हैं और हमें उम्मीद है कि एलजी इस मामले में सकारात्मक और त्वरित कदम उठाएंगे और दिल्ली सरकार की मनमानी पर लगाम लगाएंगे.

हम हर तरह से दिल्ली एजुकेशन एक्ट 1973 का पूर्णतः पालन करते हैं. हमने कभी भी नियमों की अवहेलना नहीं की है. हमने डायरेक्टर ऑफ एजुकेशन की जांच कमेटी के साथ पूरा सहयोग किया है और उन्होंने हमसे जो भी दस्तावेज मांगे, उन्हें दिये गये हैं.

लेकिन हमारे सहयोग को अनदेखा करते हुए दिल्ली सरकार ने हमें टेकओवर का नोटिस थमाया है. जो कहीं से भी कानून सम्मत नहीं है.  

गौरतलब है कि दिल्ली सरकार ने इससे पहले प्राइवेट स्कूलों को सख्त लहजे में चेतावनी दी थी कि मनमानी करने वाले स्कूलों को सरकार टेकओवर कर लेगी.

लेकिन सरकार के द्वारा दी गई लगातार चेतावनी को भी दिल्ली के कुछ प्राईवेट स्कूल के द्वारा अनदेखा किया गया. इसके बाद सरकार ने इनके टेकओवर का नोटिस जारी कर दिया.

दिल्ली सरकार ने न सिर्फ प्राइवेट स्कूलों टेकओवर का नोटिस दिया है, बल्कि सरकार नियमों की अनदेखी करने वाले प्रिंसिपल्स तक को नौकरी से बर्खास्त कर रही है.

दिल्ली सरकार ने स्कूल-वेलफेयर फंड, स्कालरशिप फंड, सैलरी और दाखिले में हेराफेरी के सबूत मिलने पर 5 स्कूलों के प्रिंसिपल्स को नौकरी से निकालने का फैसला लिया है.

First published: 13 April 2016, 23:05 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी