Home » इंडिया » Delhi sealing: 8 lacs delhi market remain closed, traders maharally in ramlila maidan
 

दिल्ली: सीलिंग के विरोध में बंद रहेंगी 8 लाख दुकानें, रामलीला मैदान में व्‍यापारियों की महारैली

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 March 2018, 9:16 IST

दिल्ली के रामलीला मैदान में आज (28 मार्च) व्यापारियों की महारैली है. सीलिंग के विरोध में व्यापारियों ने बंद का आह्वान किया है. आज दिल्ली की आठ लाख से ज्यादा दुकानें बंद रहेंगी. बंद का आह्वान कनफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) तथा व्यापारी एवं वर्कर्स एसोसिएशन के संयुक्त तत्वावधान में किया गया है.

विरोध के तहत व्‍यापारी जगह-जगह रैलियां निकालेंगे और धरने-प्रदर्शन भी करेंगे. स्थानीय प्रदर्शनों के बाद सभी व्यापारी रामलीला मैदान में इकट्ठा होकर विरोध दर्ज करेंगे. दिल्ली के करीब 2500 से अधिक बाजारों में लाखों दुकानों के शटर नहीं उठाए जाएंगे.

 

कैट के महासचिव प्रवीण खंडेलवाल ने बताया कि हम दिल्ली की सरकार को बताना चाहते हैं कि यदि एक दुकान सील होती है ति इससे 20 घरों का चूल्हा प्रभावित होता है इसलिए सीलिंग के विरोध में बुधवार को व्यापारियों के बच्चे स्कूल-कॉलेज भी नहीं जाएंगे.

4,000 दुकानें हो चुकी हैं सील
सीलिंग की वजह से पिछले तीन महीनों में दिल्ली की 4000 से अधिक दुकानें सील कर दी गई हैं. जिसकी वजह से हजारों लोगों का रोजगार खत्म हो गया है. बड़ी संख्या में लोग सड़कों पर आ गए हैं. संगठन का कहना है कि सीलिंग तो की जा रही, मगर किसी के पास कोई समाधान नहीं है.

 

कैट के महामंत्री ने कहा कि जब सरकार 1500 अनाधिकृत कालोनियों को एक झटके में नियमित कर सकती है तो फिर दिल्ली की दुकानों को सीलिंग से बचाने के लिए 'सीलिंग स्थगन' अथवा 'सीलिंग से माफी योजना' क्यों नहीं ला सकती?

पढ़ें- Mumbai: कोई बेघर सो न पाए इसलिए HDFC बैंक ने चबूतरे पर बिछा दी कीलें

कैट ने दावा किया कि बुधवार को बंद की वजह से प्रमुख बाजार मसलन कनॉट प्लेस, चांदनी चौक, करोल बाग, सदर बाजार, कमला मार्केट, चावड़ी बाजार, कश्मीरी गेट, खारी बावली सहित सभी प्रमुख बाजार बंद रहेंगे. सीमेंट, लोहा, हार्डवेयर, मशीनरी, पेपर एवं स्टेशनरी, रबड़ आदि से जुड़े संगठनों ने भी बंद का समर्थन किया है.

First published: 28 March 2018, 9:16 IST
 
अगली कहानी