Home » इंडिया » Delhi: Sonia Gandhi, Rahul Gandhi, Manmohan Singh and AK Antony detained by the police
 

सोनिया-राहुल ने 'लोकतंत्र बचाओ मार्च' से रोकने पर दी गिरफ्तारी

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 May 2016, 11:57 IST

केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ कांग्रेस ने बड़ा प्रदर्शन किया है. दिल्ली में जंतर-मंतर से संसद तक लोकतंत्र बचाओ मार्च निकालने से पुलिस ने रोका, तो सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने गिरफ्तारी दी है.

इसके अलावा पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और पूर्व रक्षा मंत्री एके एंटनी के अलावा राज्यसभा में नेता विपक्ष गुलाम नबी आजाद के साथ तमाम बड़े कांग्रेसी नेताओं ने गिरफ्तारी दी. 

soniya-rahul-police

संसद मार्ग थाना इलाके में संसद सत्र की वजह से धारा 144 लागू है, जब कांग्रेस के नेताओं ने जंतर-मंतर से आगे बढ़ते हुए मार्च निकालने की कोशिश की, तो पुलिस ने उन्हें रोकने के बाद हिरासत में ले लिया.

पुलिस ने बाद में छोड़ा


हालांकि पुलिस ने बाद में सोनिया और राहुल समेत सभी कांग्रेस के नेताओं को छोड़ दिया. आज लोकसभा में अगस्ता वेस्टलैंड के मुद्दे पर बहस होनी है. लोकतंत्र बचाओ मार्च के दौरान कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने संसद मार्ग थाने में लगाए गए बैरीकेड पर चढ़कर घुसने की कोशिश की.

वहीं मार्च के दौरान अपने नेताओं को हिरासत में लेने पर कार्यकर्ताओं ने संसद मार्ग थाने के बाहर जमकर विरोध प्रदर्शन किया.

कांग्रेस नेताओं को इसके बाद संसद मार्ग थाने पर ले जाया गया. कांग्रेस ने अगस्ता वेस्टलैंड और उत्तराखंड में राष्ट्रपति शासन समेत कई मुद्दों को लेकर मोदी सरकार के खिलाफ आज लोकतंत्र बचाओ मार्च निकालने का एलान किया था.

soniya-rahul-police-1

पीएम मोदी-भागवत पर हमला

इससे पहले जंतर-मंतर पर कांग्रेस ने लोकतंत्र बचाओ रैली की. इस दौरान कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने बीजेपी पर निशाना साधा. राहुल ने कहा कि आज हिंदुस्तान में सिर्फ दो लोगों की बात चलती है, नरेंद्र मोदी जी और मोहन भागवत जी.

वहीं सोनिया गांधी ने उत्तराखंड में राष्ट्रपति शासन लगाने के मुद्दे पर बीजेपी पर जमकर निशाना साधा. सोनिया ने कहा,"सत्ता की इनकी भूख बढ़ती जा रही है और लोकतांत्रिक तरीके से चुनी गई हमारी सरकार गिराकर लोकतंत्र की हत्या की गई है." 

soniya-rahul-police-2

'लोकतंत्र की हत्या'


सोनिया ने कहा कि आज उत्तराखंड के जंगल जल रहे हैं और वहां कुछ नहीं हो पा रहा है क्योंकि वहां कोई सरकार नहीं है. सोनिया ने कहा, "लोकतंत्र की चाहे ईंट से ईंट बज जाए, लेकिन इनका लक्ष्य सिर्फ एक ही है कि सब कुछ इनके चंगुल में हो."

सोनिया ने कहा, "जिंदगी ने मुझे संघर्ष करना सिखाया है, हमने बहुत सारी चुनौतियों का सामना किया, उन्हें नहीं पता कि हम किस मिट्टी के बने हैं."

First published: 6 May 2016, 11:57 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी