Home » इंडिया » Delhi: Taxi drivers protest on second day against ban of Supreme Court
 

डीजल टैक्सी ड्राइवरों के प्रदर्शन से फिर जूझा दिल्ली और एनसीआर

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:49 IST
QUICK PILL
  • दिल्ली और एनसीआर में लगातार दूसरे दिन भी सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ टैक्सी ड्राइवरों ने प्रदर्शन किया. सुप्रीम कोर्ट ने एक मई से दिल्ली-एनसीआर में डीजल टैक्सियों के चलने पर बैन लगा दिया है.
  • प्रदर्शन की वजह से दिल्ली-नोएडा एक्सप्रेसवे (डीएनडी) पर लंबा जाम लगा रहा. वहीं गाजियाबाद में एनएच-24 और गुड़गांव में भी सड़कों पर गाड़ियां रेंगती नजर आईं, जिससे लोगों को काफी मुश्किल हुई.

दिल्ली और एनसीआर में डीजल टैक्सियों पर सुप्रीम कोर्ट के बैन के खिलाफ लगातार दूसरे दिन भी टैक्सी ड्राइवरों का प्रदर्शन जारी है.

मंगलवार सुबह से ही प्रदर्शन कर रहे टैक्सी ड्राइवरों ने दिल्ली में जगह-जगह जाम लगा दिया. दिल्ली को नोएडा से जोड़ने वाले एक्सप्रेसवे पर ऑफिस जाने वाले वक्त में सबसे ज्यादा जाम देखा गया.

डीएनडी पर लंबा जाम


हालात इस कदर बिगड़ गए कि कई किलोमीटर तक गाड़ियों की कतार लग गई. जाम की वजह से दफ्तर और कॉलेज जाने वालों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ा. प्रदर्शन की वजह से दिल्ली-नोएडा एक्सप्रेसवे (डीएनडी) पर लंबा जाम लगा रहा.

पढ़ें:डीजल टैक्सी ऑपरेटरों ने दिल्ली-एनसीआर में लगाया जाम

दिल्ली-एनसीआर कई दूसरे हिस्सों में भी लोग टैक्सी ड्राइवरों के लगाए जाम से जूझते नजर आए. आश्रम, सराय काले खां, मयूर विहार, धौला कुआं और महिपालपुर में लोग घंटों जाम में फंसे रहे.

गाजियाबाद-गुड़गांव में भी जाम


गाजियाबाद में एनएच-24 और गुड़गांव में भी सड़कों पर गाड़ियां रेंगती नजर आईं, जिससे लोगों को काफी मुश्किल झेलनी पड़ी.

डीजल टैक्सियों पर सुप्रीम कोर्ट के बैन के खिलाफ टैक्सी ड्राइवरों ने सोमवार को भी प्रदर्शन किया था. इस दौरान डीएनडी पर जाम लगाने वाले 15 टैक्सी चालकों के खिलाफ केस दर्ज किया गया था. साथ ही आठ की टैक्सियां जब्त कर ली गई थीं.

पढ़ें:दिल्ली-NCR में एक मई से नहीं चलेंगी डीजल टैक्सियां

diesel taxi2

सुप्रीम कोर्ट के आदेश का विरोध


सुप्रीम कोर्ट ने 30 अप्रैल तक के लिए निजी डीजल टैक्सी चालकों को छूट दी थी. शनिवार को सुनवाई के दौरान अदालत ने डेडलाइन की मियाद बढ़ाने से इनकार कर दिया था.

अदालत ने सभी डीजल टैक्सियों को सीएनजी में बदलने का आदेश दिया था. हालांकि ऑल इंडिया परमिट वाली टैक्सियों को बैन से छूट दी गई है. अदालत के इसी फैसले का टैक्सी ड्राइवर विरोध कर रहे हैं.

taxi driver 3

First published: 3 May 2016, 1:53 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी