Home » इंडिया » Delhi: Yamuna river continues to flow above danger mark
 

दोपहर बाद आधी दिल्ली आ सकती है बाढ़ की चपेट में, हरियाणा ने छोड़ा आफत का पानी

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 July 2018, 10:03 IST

देश की राजधानी दिल्ली में बाढ़ का खतरा मंडरा रहा है. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद ने राजधानी में बाढ़ की आशंका को देखते हुए आपात बैठक बुलाई. मॉनसून की बारिश ने आफत का रूप ले लिया है. इसके बाद देश की राजधानी दिल्ली पर बाढ़ का खतरा मंडरा रहा है. शनिवार शाम दिल्ली में यमुना खतरे के निशान से 47 सेंटीमीटर ऊपर बह रही थी.

आज सुबह राजधानी में यमुना का जलस्तर 205.44 मीटर तक पहुंच गया है. दोपहर 3 बजे तक ये 205.65 मीटर तक पहुंच सकता है. इसके बाद दिल्ली के निचले इलाकों में पानी घुसने का खतरा मंडराने लगा है. इसे देखते हुए दिल्ली सरकार के सिंचाई व बाढ़ नियंत्रण विभाग ने अलर्ट जारी कर निचले इलाकों में रहने वाले लोगों की झुग्गियों और मकानों को खाली कराने का निर्देश जिलाधिकारियों को दे दिया है. 

इससे पहले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बाढ़ की आशंका को देखते हुए आपात बैठक बुलाई और सभी संबंधित मंत्रालयों तथा विभागों को अलर्ट करते हुए आवश्यक दिशा निर्देश दिए. आपात स्थिति से निपटने के लिए त्वरित कार्रवाई दल पूरी तरह से सक्रिय कर दिया गया है. केजरीवाल ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि आपातकालीन नियंत्रण कक्ष नंबर 1077 के बारे में विज्ञापन के जरिए जानकारी दी जाए ताकि लोगों को इसके बारे में पता चल सके. 

पढ़ें-महाराष्ट्र: महाबलेश्वर पिकनिक मनाने गए पर्यटकों की बस 500 फीट गहरे खाई में गिरी, 35 की मौत

बता दें कि मानसून की बारिश के बाद हरियाणा द्वारा हथिनी कुंड बैराज से पांच लाख क्यूसेक पानी छोड़ा गया है. इसके बाद दिल्ली में बाढ़ की आशंका को देखते हुए केजरीवाल ने शनिवार को उप मुख्यमंत्री, स्वास्थ्य एवं शहरी विकास मंत्री मनीष सिसोदिया के साथ सभी संबंधित मंत्रालयों और विभागों की आपात बैठक की.

First published: 29 July 2018, 9:54 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी