Home » इंडिया » Total seizure after demonetisation Rs 390 crore Total undisclosed income admitted Rs 2614 crore: IT sources
 

नोटबंदी: IT ने 586 छापों में जब्त किए 316 करोड़, 79 करोड़ के नए नोट

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 December 2016, 17:00 IST

नोटबंदी के बाद देशभर में आयकर विभाग की छापेमारी का सिलसिला जारी है. इस दौरान भारी मात्रा में कैश बरामद हुए हैं. खास बात यह है कि इसमें एक महीने पहले जारी हुए पांच सौ और एक हजार रुपये के नोट भी शामिल हैं.

सूत्रों के मुताबिक आयकर विभाग ने आठ नवंबर को नोटबंदी के एलान के बाद 14 दिसंबर तक की अवधि में कुल 586 छापे की कार्रवाई को अंजाम दिया. आईटी सूत्रों के मुताबिक इस दौरान 316 करोड़ रुपये की रकम बरामद हुई है. इनमें से 79 करोड़ रुपये नई करेंसी में हैं.

आयकर विभाग के मुताबिक कुल 390 करोड़ मूल्य की जब्ती हुई है. इसके अलावा इस दौरान 2614 करोड़ की अघोषित आय का खुलासा हुआ है.

चेन्नई से दिल्ली तक काली कमाई के कुबेर

नोटबंदी के बाद आयकर विभाग ने दक्षिण भारत में सबसे ज्यादा कैश बरामद किए हैं. चेन्नई में खनन कारोबारी शेखर रेड्डी के आठ ठिकानों पर छापेमारी में तकरीबन सवा सौ करोड़ रुपये जब्त हुए थे. इसके अलावा 173 किलोग्राम सोना भी बरामद हुआ था.

इसके अलावा बेंगलुरु में भी इंजीनियर और ठेकेदार के यहां छापेमारी में 5.7 करोड़ रुपये के दो हजार के नए नोट बरामद हुए थे. 50 से ज्यादा आयकर अधिकारियों की टीम ने बेंगलुरु, चेन्नई और इरोड में छापेमारी की थी.

देश की राजधानी दिल्ली के ग्रेटर कैलाश इलाके में एक लॉ फर्म पर छापे में सवा तेरह करोड़ रुपये जब्त हुए थे. टी एंड टी नाम की इस लॉ फर्म के मालिक रोहित टंडन हैं. बताया जा रहा है कि पूछताछ में टंडन की कई बेनामी संपत्ति का खुलासा हुआ है.

First published: 16 December 2016, 17:00 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी