Home » इंडिया » devendra fadnavis: mumbai dance bar bar girls rules fine
 

मुंबई: डांस बार में बालाओं को छूने पर हो सकती है 6 महीने की जेल

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:51 IST

महाराष्ट्र सरकार ने मुंबई बार बालाओं के मामले में सुप्रीम कोर्ट के आदेश का अनुपालन करते हुए डांस बार के लिए नई नियमावली बनाई है.

इस नियमावली के मुताबिक अगर कोई डांस बार में बार बालाओं को छूएगा या पैसे लुटाने की कोशिश करेगा तो उसे 6 महीने की जेल और 50 हजार रुपये तक का जुर्माना हो सकता है. बार बालाओं और ग्राहकों के बीच कम से कम 5 फुट की दूरी रखना अनिवार्य होगा.

पढ़ें: महाराष्ट्र डांस बार के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने की पुलिस की खिंचाई

सुप्रीम कोर्ट के दखल के बाद महाराष्ट्र की देवेंद्र फणनवीस ने अपनी अध्यक्षता में 14 मार्च 2016 को 25 सदस्यों वाली एक सर्वदलीय समिति का गठन किया था. यह नई नियमावली इसी समिति की अनुशंसा पर जारी हुई है.

नियमावली के मुताबिक डांस बार को रिहायशी इलाकों में चलाने की अनुमति नहीं होगी और स्कूल या धार्मिक स्थल से भी इन डांस बार को एक किलोमीटर की दूरी बना कर रखनी होगी. इससे पहले यह दूरी केवल 100 मीटर तय थी.

पढ़ें: सुप्रीम कोर्ट: डांस बार को हां, सीसीटीवी फुटेज को ना

सुरक्षा के लिहाज से डांस बार के अंदर और बाहर सीसीटीवी कैमरे लगाने अनिवार्य होंगे और तीस दिनों तक सीसीटीवी की फुटेज रखनी होगी. इसके साथ ही डांस बार में तीन महिला सिक्योरिटी गार्डों की तैनाती अनिवार्य होगी.

इन नियमों के लागू होने की सूरत में डांस बार शाम 6 बजे से रात 11.30 बजे तक ही चल सकेंगे. डांस बार में 25 साल से कम उम्र की लड़कियों को बार बाला के तौर पर नहीं रखा जा सकेगा.

बार बालाओं का उत्पीड़न करने वाले बार मालिक पर 10 लाख का जुर्माना या 3 साल की सजा या फिर दोनों का प्रावधान होगा. बार मालिक को बार बालाओं के साथ बॉन्ड साईन करना होगा, जिसमें बारबालाओं की सैलरी, उनके पीएफ सहित अन्य सुविधाओं की जानकारी देनी होंगी.

पढ़ें: विश्व महिला दिवस: यौनकर्मी की बेटी का पत्रकार बनने का सपना

डांस बार को बार बालाओं की हाजरी का बायोमेट्रीक सिस्टम के जरिए रिकॉर्ड रखना अनिवार्य होगा.

डांस बार के मामले में इस तरह के कुल 26 नियम मसौदा समिति के सामने रखी गई है. इस मामले में महाराष्ट्र के वित्तमंत्री ने कहा कि 'महाराष्ट्र सरकार की नई नियमावली डांस बार में बार बालाओं के शोषण को रोकने में सहायक सिद्ध होगी.

First published: 30 March 2016, 5:27 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी