Home » इंडिया » Devendra fadnavis: Rakesh mariya confusing me on Sheena Bora Murder Case
 

देवेंद्र फणनवीस: राकेश मारिया ने मुझे शीना बोरा मर्डर केस में गुमराह किया

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 February 2017, 5:47 IST
(एजेंसी)

मुंबई के चर्चित शीना बोरा मर्डर केस में फिर एक चौंकाने वाला खुलासा हुआ है. इस बार खुद महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा है कि शीना बोरा केस में तत्कालीन पुलिस कमिश्नर राकेश मारिया ने उन्हें गुमराह किया था.

सीएम फणनवीस के मुताबिक तत्कालीन पुलिस कमिश्नर राकेश मारिया ने उन्हें बताया था कि स्टार इंडिया के पूर्व सीईओ पीटर मुखर्जी का इस हत्याकांड में कोई हाथ नहीं है. जबकि सीबीआई जांच में यह साबित हो चुका है कि मुंबई पुलिस का इस मामले में जो दावा था. वो पूर्णतः भ्रामक और गलत था.

फणनवीस के इस बयान से साफ है कि शीना बोरा हत्याकांड की जांच में पूर्व पुलिस कमिश्नर राकेश मारिया की भूमिका काफी संदिग्ध जान पड़ती है.

शीना बोरा मर्डर केस में सीबीआई गुरुवार को वरिष्ठ पुलिस अधिकारी राकेश मारिया, देवेन भारती और डीसीपी सत्यनारायण चौधरी से पूछताछ कर चुकी है.

सीबीआई ने उस पूछताछ के दौरान उनके बयान भी रिकॉर्ड किए हैं. इससे पहले अपनी दूसरी चार्जशीट में जांच एजेंसी ने यह भी दावा किया था कि इंद्राणी मुखर्जी हत्या के समय पीटर मुखर्जी को पूरी जानकारी दे रही थी.

गौरतलब है कि बतौर पुलिस कमिश्नर राकेश मारिया 8 घंटे पुलिस थाने में बैठकर इंद्राणी, संजीव खन्ना और उनके ड्राइवर से पूछताछ करते रहे थे.

जिसकी खबरें मीडिया में आने के बाद मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा था कि पुलिस कमिश्नर का एक ही केस में इतनी दिलचस्पी लेना, ग़लत संदेश दे रहा है, लेकिन इसके बावजूद मारिया फिर से पूछताछ करने के लिए खार पुलिस स्टेशन पहुंच गए थे.

जिसकी सूचना मिलते ही सीएम फणनवीस इतने नाराज हुए कि मारिया का ट्रांसफर मुंबई पुलिस कमिश्नर पद से होमगार्ड डीजी के पद पर कर दिया.

First published: 30 October 2016, 1:55 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी