Home » इंडिया » Digital India: UPI transaction increase to 1 lakh crore in December month
 

एक महीने में UPI ट्रांजैक्शन में 1 लाख करोड़ का इजाफा , मोदी का BHIM ऐप रह गया पीछे

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 January 2019, 10:24 IST

भारत में ऑनलाइन पैसों के लेनदेन के लिए UPI में केवल एक महीने में 1 लाख करोड़ से ज्यादा का इजाफा हुआ है. इस बात की जानकारी नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) ने अपने टि्वटर हैंडल पर दी है. ट्वीट में लिखी जानकारी के अनुसार बीते साल एक आखिरी महीने यानी दिसंबर 2018 में यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस (यूपीआई) के तहत हुए ट्रांजैक्शन में करीब 1 लाख करोड़ (620.17 मिलियन) से की बढ़त दर्ज की गई है. वहीं अगर एक महीने पहले नवंबर के आंकड़े देखें तो यह 524.94 मिलियन था. साल 2018 में UPI के तहत हुआ कुल ट्रांजैक्शन करीब 3 अरब के है.

इतना ही नहीं अगर इन ट्रांजैक्शन की वैल्यू निकाली जाए तो भी दिसंबर में इस लेनदेन में 25 प्रतिशत का इजाफा हुआ. इस मामले में बिजनेस टुडे की एक रिपोर्ट के अनुसार, 2017 की तुलना में पिछले साल भीम यूपीआई के ट्रांजैक्शन में चार गुना का इजाफा देखा गया है. जबकि अगर इस ट्रांज़ैक्शन की वैल्यू देखें तो इसमें 7 गुना की वृद्धि हुई है.


सोने की जगह पीतल रख कर बांटा लोन, फर्जी नामों पर करोड़ों का घोटाला

महज दो साल पहले बने यूपीआई सिस्टम में इस तेज गति से हो रहा इजाफा इस बात एक संकेत देता है कि आने वाले समय में UPI आईएमपीएस और एनईएफटी पेमेंट सिस्टम को पछाड़ देगा. आंकड़ों को देखें तो साल 2018 में आईएमपीएस और एनईएफटी दोनो को मिलाकर कुल 181 करोड़ का ट्रांजैक्शन हुआ था.

वहीं यूपीआई कार्ड पेमेंट को भी पीछे छोड़ चुका है. रिजर्व बैंक के आंकड़ों से ये पता चलता है कि बीते पिछले अक्टूबर में कार्ड पेमेंट में 9 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज हुई. 2017-18 में कुल कार्ड पेमेंट 10,60,700 करोड़ रुपए रहा. वहीं अगर अन्य कंपनियों के आंकड़ें देखें तो बाजार में यूपीआई की कई ऐसी कंपनियां भी हैं, जैसे कि रिलायंस जियो, व्हाट्सअप, अमेजन पे और गूगल पे सालों से इस्तेमाल में रही एसबीआई, आईसीआईसीआई और एचडीएफसी बैंकों के पेमेंट को बहुत पीछे छोड़ दिया है.

नया साल शुरू होते ही आई बुरी खबर, आपके सर पर आ गया 62 हजार रुपये का कर्ज, जानिए कैसे

वहीं सरकार का यूपीआई एप भारत इंटरफेस फॉर मनी (भीम) के ट्रांजैक्शन में गिरावट हुई है. 2018 के दिसंबर महीने में भीम से 7,981.82 करोड़ रुपए का ट्रांजैक्शन दर्ज किया गया है. गौरतलब है कि रिजर्व बैंक ने यह भी ऐलान किया है कि यूपीआई से वॉलेट को जोड़ा जाएगा जिससे कि डिजिटल पेमेंट सिस्टम को और अधिक फास्ट बनाया जा सके.

First published: 7 January 2019, 10:16 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी