Home » इंडिया » Digvijay Singh ask on Ayodhya Verdict that will demolition accused will get punishment
 

अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट का फैलना आने के बाद दिग्विजय सिंह का बड़ा सवाल

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 November 2019, 16:00 IST

राम जन्मभूमि पर फैसला आने के बाद राजनेताओं की प्रतिक्रिया आना शुरु हो गई है. कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर पूछा है कि ढांचा ढहाने के दोषियों को क्या सजा मिलेगी. दिग्विजय सिंह ने ट्विटर पर लिखा, "माननीय उच्चतम न्यायालय ने राम जन्म भूमि फैसले में बाबरी मस्जिद को तोड़ने के कृत्य को गैर कानूनी अपराध माना है. क्या दोषियों को सजा मिल पाएगी? देखते हैं. 27 साल हो गए."

कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने कहा कि ये किसी के हित में नहीं है विध्वंस और हिंसा का रास्ता. उन्होंने लिखा, "राम जन्म भूमि के निर्णय का सभी ने सम्मान किया हम आभारी हैं. कांग्रेस ने हमेशा से यही कहा था हर विवाद का हल संविधान द्वारा स्थापित कानून व नियमों के दायरे में ही खोजना चाहिए. विध्वंस और हिंसा का रास्ता किसी के हित में नहीं है."

बता दें कि शनिवार को आए फैसले में सुप्रीम कोर्ट की पीठ ने कहा कि मस्जिद में मूर्ति रखना और ढांचा ढहाना गैरकानूनी था. पीठ ने कहा, साक्ष्यों के अनुसार, मस्जिद में मुस्लिम नमाज पढ़ते थे. 22-23 दिसंबर 1949 को गुंबद के नीचे मूर्ति रख दी गई. यह अपवित्र काम था. 1992 में ढांचा ढहना कानून का उल्लंघन था. हम संविधान के अनुच्छेद 142 के तहत विशेष शक्तियों का इस्तेमाल करते हुए जो गलत हुआ, उसे सुधार सकते हैं. मस्जिद के लिए जमीन देना जरूरी है, क्योंकि मुस्लिमों को गलत तरीके से बेदखल किया था. या तो, केंद्र सरकार अधिगृहीत जमीन से इतर या फिर राज्य सरकार अयोध्या में वक्फ बोर्ड को जमीन दें.

ये भी पढ़ें-

अयोध्या फैसले पर फिल्म निर्माता सलीम खान का बयान, कहा- 5 एकड़ जमीन पर हमारे लिए स्कूल बनाएं

राम मंदिर आंदोलन में इन नेताओं ने खपा दिया अपना जीवन, जानिए कौन हैं वो नाम

अयोध्या फैसले पर सुप्रीम कोर्ट का बड़ा बयान, हिंदुओं का दावा मुसलमानों की तुलना में बेहतर

First published: 10 November 2019, 16:00 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी