Home » इंडिया » Digvijay Singh: Gandhi family has never apologised in history
 

आरएसएस-राहुल विवाद: दिग्विजय बोले, गांधी परिवार ने इतिहास में कभी नहीं मांगी माफी

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 July 2016, 15:24 IST
(फाइल फोटो)

कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने कहा है कि राहुल गांधी, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से माफी नहीं मांगेंगे. एक निजी न्यूज़ चैनल को दिए इंटरव्यू में दिग्विजय सिंह ने यह बयान दिया है.

दरअसल हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि महात्मा गांधी की हत्या के लिए आरएसएस को जिम्मेदार ठहराने वाले बयान पर या तो राहुल गांधी माफी मांगें या फिर आपराधिक मानहानि के मुकदमे का सामना करने के लिए तैयार रहें.

मुकदमे का सामना करेंगे राहुल

ईटीवी न्यूज़ नेटवर्क के हेड जगदीश चंद्र के साथ विशेष कार्यक्रम 'द जेसी शो' में दिग्विजय सिंह ने कहा कि राहुल गांधी इस मामले में मुकदमे का सामना करेंगे. 

दिग्विजय सिंह ने इंटरव्यू के दौरान कहा, "गोडसे के मुद्दे पर राहुल गांधी माफी नहीं मांगेंगे. गांधी परिवार का इतिहास माफी नहीं मांगने का रहा है."

आरएसएस ने की माफी की मांग

वहीं आरएसएस ने इस मुद्दे पर कहा है कि अगर कांग्रेस उपाध्यक्ष माफी नहीं मांगते हैं, तो उन्हें अक्सर शीर्ष अदालत में जाना पड़ सकता है.

पढ़ें: सुप्रीम कोर्ट: गांधी की हत्या में संघ को जिम्मेदार बताने पर मुकदमे का सामना करें राहुल गांधी

आरएसएस विचारक राकेश सिन्हा ने कहा, "अगर उनके अंदर कोर्ट के प्रति जरा भी सम्मान है, तो उन्हें माफी मांगनी चाहिए. मैं उन्हें बताना चाहता हूं कि उन्हीं की पार्टी के सीताराम केसरी ने महात्मा गांधी की हत्या से आरएसएस को जोड़ा था और उन्हें माफी मांगनी पड़ी थी."

राकेश सिन्हा ने साथ ही कहा, "एक और नेता अर्जुन सिंह को अक्सर अदालत जाना पड़ा था. मशहूर कॉलमिस्ट एजी नूरानी ने माफी मांगी थी."

'गोडसे ने मारा, आरएसएस ने मारा इसमें फर्क'

जस्टिस दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली सुप्रीम कोर्ट की बेंच ने इस मामले में राहुल गांधी की याचिका पर सुनवाई के दौरान कहा था, "केस का फैसला मेरिट के आधार पर होना चाहिए कि आपने जो कहा वो जनता के लिए अच्छा था या नहीं."

पढ़ें: नेशनल हेराल्ड केस: कोर्ट से मिला स्वामी को झटका, सोनिया राहुल को राहत

सुप्रीम कोर्ट ने राहुल गांधी पर टिप्पणी करते हुए कहा, "नाथूराम गोडसे ने महात्मा गांधी को मारा और आरएसएस के लोगों ने गांधी जी को मारा, इन दोनों बातों में बहुत फर्क है. जब आप किसी व्यक्ति विशेष के बारे में बोलते हैं, तो सतर्क रहना चाहिए. आप किसी की सामूहिक निंदा नहीं कर सकते."

क्या है पूरा विवाद?

सुप्रीम कोर्ट ने राहुल गांधी की दो हफ्ते के लिए सुनवाई स्थगित करने की मांग ठुकराते हुए अगली तारीख 27 जुलाई तय की है. मार्च 2014 में ठाणे में एक रैली के दौरान आरएसएस के खिलाफ बयान देने के आरोप में राहुल के खिलाफ केस दर्ज हुआ था.

राहुल गांधी ने आपराधिक मानहानि के केस को चुनौती देते हुए मई 2015 में सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दाखिल की थी.

गौरतलब है कि आरएसएस की भिवंडी इकाई के सचिव राजेश कुंटे ने आरोप लगाया था कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने सोनाले में छह मार्च को एक चुनावी रैली में कहा था कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने गांधी जी की हत्या की.

पढ़ें: घमासान के बीच शांतिदूत की भूमिका में राहुल गांधी

कुंटे ने आरोप लगाया था कि कांग्रेस के नेता ने अपने भाषण के जरिए संघ की प्रतिष्ठा को चोट पहुंचाने की कोशिश की. मामले की अगली सुनवाई बुधवार 27 जुलाई तक टालने का आदेश देते हुए सुप्रीम कोर्ट ने राहुल गांधी को अपने पक्ष में विस्तृत दलीलों के लिए मोहलत दी है.

First published: 21 July 2016, 15:24 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी