Home » इंडिया » Disclosed in Chargesheet, illegal connection to Shambhalal woman, so play the role of LOVE jehad
 

शंभूलाल रेगर ने लवजिहाद का सहारा लेकर की थी निर्मम हत्या, महिला से थे नाजायज संबंध

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 January 2018, 11:08 IST

पश्चिम बंगाल के मजदूर मोहम्मद अफराजुल की हत्या करने वाले शंभूलाल रेगर के खिलाफ राजस्थान पुलिस ने अपनी चार्जशीट दायर की है. इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक छानबीन और जांच के दौरान पुलिस ने पाया कि शंभूलाल के पश्चिम बंगाल निवासी एक युवती से अवैध संबध थे. दो बंगाली मजदूर अज्जू और बल्लू को लड़की और शंभू के इस अवैध संबंध के बारे में पता था.

अच्छाई का नकाब ओढ़े शंभू को डर था कि कहीं अज्जू और बल्लू उसके अवैध संबंधों का कहीं जिक्र न कर दे. बदनामी के डर से बचने के लिए शंभू ने इस वारदात को अंजाम दिया, जिससे उन मजदूरों में खौफ पैदा हो और वो यहां से भाग जाएं.

 

आरोपपत्र में पुलिस का कहना है कि उन्होंने एक डायरी जब्त है, जिसमें रैगर ने वीडियो में किए गए सभी भड़काऊ टिप्पणियां लिखी हैं. आरोपपत्र के अनुसार, राजसमंद में एक मंदिर के पीछे एक पहाड़ी से डायरी को बरामद किया गया.

महिला के बारे में आरोपत्र में कहा गया है, शंभूलाल रेगर उससे लोन दिलाने के बहाने से बैंक मैनेजर के घर ले गया था. जहां पार्टी हो रही थी. शंभूलाल रेगर ने वहां जाकर उसे कहा था कि बैंक मैनेजर को खुश कर दे, तेरा लोन पास हो जाएगा.

आरोप पत्र में कहा गया है कि महिला कुछ चाबियाँ सौंपने के बहाने बैंक प्रबंधक के घर से बाहर निकलने में कामयाब रही और इस घटना के बारे में बाद में रैगर के साथ झगड़ा हुआ. इसमें लिखा हुआ था कि शंभूलाल रेगर उसके घर आता जाता रहता था. इसलिए उसकी जगह शंभूलाल रेगर के भी दोस्ती थी. उसके शंभूलाल रेगर के बीच शारीरिक सम्बन्ध थे. इस मामले में आरोपपत्र और दस्तावेजों को राजसमंद में मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट के अदालत में पेश किया गया.

मामले की गंभीरता को देखते हुए एक महीने से ज्यादा समय तक जांच की गई. हत्या के मामले में पुलिस ने उसे बीती 7 दिसंबर को गिरफ्तार किया था. शंभूलाल ने उसके नाबालिग भतीजे की मदद से दिल दहला देने वाली इस घटना का वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल किया था.

वहीं राजनगर पुलिस स्टेशन के एसएचओ रामस्वामी मीणा का कहना है कि 413 पेज के आरोप पत्र में हत्या के पीछे के मकसद, वीडियो, और उसमें इस्तेमाल की गई चीजों को घटना के सबूत के तौर पर पेश किया गया है. हमने इस मामले में 68 गवाह भी दिए हैं. 

First published: 15 January 2018, 11:08 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी