Home » इंडिया » Don't fall in trap of schools giving useless degrees: RBI Governor Raghuram Rajan
 

आरबीआई गवर्नर: 'ठगने वाले स्कूलों' के झांसे में नहीं आएं छात्र

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 May 2016, 17:16 IST

दो दिन पहले देश में 22 फर्जी विश्वविद्यालयों की जानकारी सामने आई थी. अब शनिवार को रिजर्व बैंक के गर्वनर रघुराम राजन ने छात्रों से कहा है कि 'ठगने वाले स्कूलों' के झांसे में नहीं आना चाहिए.

राजन ने छात्रों को एजुकेशन लोन को लेकर आगाह करते हुए कहा कि ये स्कूल उन्हें कर्ज के बोझ में डुबा देंगे और डिग्री भी ऐसी देंगे जो किसी काम की नहीं होगी.

आरबीआई गवर्नर राजन ने इस दौरान कहा कि दुनिया भर में निजी शिक्षा महंगी है, और महंगी होती जा रही है. उन्होंने कहा कि सभी योग्य छात्रों के लिए डिग्री लेना सस्ता करने के प्रयास किए जाने चाहिए.

एक निजी विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में राजन ने कहा कि जिन छात्रों की स्थिति ठीक नहीं है या जिन्हें कम वेतन वाली नौकरी मिली है, उनके आंशिक कर्ज को माफ किया जाना चाहिए.

देश में 22 फर्जी यूनीवर्सिटी

वहीं देश में कई ऐसे निजी विश्वविद्यालय या कॉलेज चल रहे हैं जिन्हें विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) से मान्यता नहीं मिली हुई है.

यह जानकारी गुरुवार को राज्यसभा में केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने दी है. उन्होंने कहा कि यूजीसी के अनुसार 22 विश्वविद्यालय ऐसे हैं जिन्हें फर्जी विश्वविद्यालयों की यूजीसी सूची में रखा गया है.

ये विश्वविद्यालय देश के अलग-अलग भागों में यूजीसी कानून, 1956 के खिलाफ या उसका उल्लंघन कर कार्य कर रहे हैं.

सबसे अधिक नौ फर्जी विश्वविद्यालय उत्तर प्रदेश में हैं, जबकि दिल्ली में पांच और पश्चिम बंगाल में दो ऐसे संस्थानों का पता लगा है. इसके अलावा बिहार, कर्नाटक, केरल, महाराष्ट्र, तमिलनाडु और ओडिशा में एक-एक फर्जी विश्वविद्यालय हैं.

सभी राज्यों को इन विश्वविद्यालयों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने के लिए कहा गया है. फर्जी संस्थानों से छात्रों को सावधान करने के लिए (http://www.knowyourcollege-gov.in) 'नो योर कॉलेज' पोर्टल की शुरुआत की गई है.

इस पोर्टल से छात्र आसानी से पता लगा सकेंगे कि उनका कॉलेज मान्यता प्राप्त है या नहीं.  इसके साथ ही एक शिकायत तंत्र की भी व्यवस्था की गयी है.

First published: 7 May 2016, 17:16 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी