Home » इंडिया » Donald Trump statement on Jammu and Kashmir White House reply PM Narendra Modi
 

इमरान खान के सामने कश्मीर मामले पर ट्रंप ने किया झूठा दावा ! भड़का भारत तो व्हाइट हाउस को देनी पड़ी सफाई

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 July 2019, 12:10 IST

जम्मू-कश्मीर के मुद्दे पर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का बयान अमेरिका के लिए मुसीबत बन गया है. ट्रंप के बयान पर भारत की तरफ से तीखी प्रतिक्रिया मिली तो व्हाइट हाउस को सफाई देनी पड़ गई. व्हाइट हाउस की तरफ से सफाई देते हुए कहा गया कि कश्मीर मामला भारत और पाकिस्तान के बीच अपना मामला है. दोनों देश बातचीत के जरिए इसे सुलझाएंगे.

दरअसल, सोमवार को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान से मुलाकात के दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने दावा किया की भारत ने कश्मीर मसले पर मध्यस्थता करने की बात कही है. डोनाल्ड ट्रंप ने दावा किया कि भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनसे कश्मीर मसले पर मध्यस्थता करने को कहा है. ट्रंप ने कहा कि अगर उनसे ऐसा करने को कहा जाता है तो वह इसके लिए तैयार हैं.

 

अमेरिकी राष्ट्रपति के इस बयान के सामने आने के बाद भारत भड़क गया. भारत ने ट्रंप के उस दावे को झूठा बताया और कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरफ से अमेरिकी राष्ट्रपति से ऐसी कोई बात हुई ही नहीं. विदेश मामलों के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि भारत अपने निर्णय पर कायम है और पाकिस्तान के साथ सारे मामले द्विपक्षीय बातचीत से ही हल किए जाएंगे.

रवीश कुमार ने कहा कि पाकिस्तान के साथ किसी भी तरह की बातचीत के लिए उसका सीमा पार से आतंकवाद बंद करना जरूरी है. भारत ही नहीं बल्कि अमेरिका के भी कई सांसदों ने डोनाल्ड ट्रंप के बयान का विरोध किया. इसके बाद अमेरिकी विदेश मंत्रालय और व्हाइट हाउस को इस मामले में सफाई देनी पड़ गई.

व्हाइट हाउस ने अपने बयान में कहा कि पाकिस्तान ने आतंकी संगठनों के खिलाफ कार्रवाई की है, लेकिन पाक को अपनी जमीन से आतंकवाद पूरी तरह खत्म करने की जरूरत है. व्हाइट हाउस ने कहा कि अमेरिका की हमेशा से नीति रही है कि कश्मीर मामला भारत और पाकिस्तान के बीच का मुद्दा है और वह आपसी बातचीत से ही सुलझेगा.

Chandrayaan 2 Launch: मिशन की सफलता के लिए बस के टायर पर मूत्र विसर्जन करते हैं अंतरिक्ष यात्री

मोदी सरकार उठाने जा रही बड़ा कदम, सेना में शीर्ष पदों पर कर सकती है अहम बदलाव

First published: 23 July 2019, 12:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी