Home » इंडिया » Dr. Feroz Khan controversy for teaching Sanskrit in BHU, Padma Shri to his father
 

डॉ. फिरोज खान के BHU में संस्कृत पढ़ाने पर हुआ था विवाद, मोदी सरकार ने उनके पिता को दिया पद्मश्री

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 January 2020, 17:19 IST

Feroz Khan Father gets Padma Shri: कुछ दिनों पहले BHU के प्रोफेसर डॉ. फिरोज खान के संस्कृत पढ़ाने को लेकर काफी विवाद हुआ था. फिरोज खान की बीएचयू के धर्म संस्कृत के धर्म विज्ञान संकाय में नियुक्ति हुई थी. इसे लेकर काफी बवाल मचा था. इस कारण बाद में उनकी नियुक्ति संस्कृत विभाग में की गई थी.

अब उनके पिता को मोदी सरकार ने पद्मश्री से नवाजा है. डॉ. फिरोज खान के पिता रमजान खान भजन गाते हैं. उन्होंने शास्त्री संगीत अपने दादा से सीखी है. उनके पिता ने बताया कि वह राम और कृष्ण के भजन गाते हैं. उनके पूर्वज पिछले 100 सालों से भगवान के भजन गाते आ रहे हैं.

फिरोज खान के पिता ने अपने बेटे के विवाद के समय कहा था कि उनके बेटे का जो लोग विश्वविद्यालय में संस्कृत पढ़ाने के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं, वे उनके परिवार का इतिहास जानेंगे तब शायद उन्हें संतुष्टि होगी. उन्होंने बताया कि फिरोज के दादा एक भजन गायक थे.

फिरोज खान के पिता ने बताया था कि उनके पिता बगरू के एक मंदिर में राधा-कृष्ण और सीताराम के भजन गाते थे. वह काफी लोकप्रिय थे. उनका पोता फिरोज खान भी उनके आदर्शो पर ही चलता है. रमजान खान ने बताया कि उनके चार बेटे संस्कृत विश्वविद्यालय में पढ़े हैं. 

प्रोफेसर फिरोज खान के पिता ने संस्कृत में शास्त्री योग्यता हासिल की है. वह पास की गोशाला में गायों की सेवा करते हैं. वह मस्जिद भी जाते हैं और नमाज भी अदा करते हैं. बता दें कि रमजान खान के हिन्‍दू धर्म को मानने को लेकर अन्य गांववालों को कभी कोई परेशानी नहीं हुई. उन्होंने गाय और भगवान कृष्ण पर भजन भी लिखे हैं. 

Video: तिरंंगे का सम्मान भूले कांग्रेसी नेता ! ध्वजारोहण के दौरान एक-दूसरे को जमकर जड़े थप्पड़

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ का बड़ा बयान

First published: 26 January 2020, 17:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी