Home » इंडिया » du refuse to answer to rti on modi degree issue
 

मोदी के डिग्री मामले में डीयू ने आरटीआई का जवाब देने से मना किया

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:49 IST
(डीयू)

दिल्ली यूनिवर्सिटी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की डिग्री के बारे में सूचना पाने के संबंध में दाखिल की गई एक आरटीआई को खारिज कर दिया है.

डीयू ने ऐसा करने के पीछे 'निजता' कारणों का हवाला दिया है. आरटीआई के तहत दिल्ली के एक अधिवक्ता मोहम्मद इरशाद ने पीएम मोदी की डिग्री से संबंधित जानकारी मांगी थी.

इस मामले में डीयू ने जवाब देते हुए कहा कि 'डीयू प्रत्येक विद्यार्थी की निजता को बरकरार रखने की कोशिश करता है, क्योंकि यह विश्वासपूर्ण रिश्ते के तहत छात्र से संबद्ध जानकारी अपने पास रखता है.'

डीयू के द्वारा पीएम मोदी की डिग्री से संबंधित जानकारी उपलब्ध कराने से इनकार करने से एक नया विवाद खड़ा हो गया है.

इस मामले में पीएम मोदी की डिग्री को 'फर्जी' बताने वाले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आरटीआई पर डीयू के द्वारा दिए गए जवाब की एक प्रति रविवार को ट्विटर पर साझा करते हुए कहा कि डीयू सूचना देने से मना नहीं कर सकता.

केजरीवाल के ट्वीट में कहा गया है कि, 'इससे प्रधानमंत्री की डिग्री से संबंधित रहस्य और गहरा रहा है. अगर डीयू को लगता है कि यह निजी जानकारी है, तो उसे आरटीआई कानून के तहत प्रधानमंत्री को पत्र लिखना चाहिए और उनकी अनुमति लेनी चाहिए. लेकिन डीयू सूचना देने से मना नहीं कर सकता.'

अरविंद केजरीवाल ने एक अन्य ट्वीट में कहा, 'क्या? लेकिन क्यों? क्या अमित शाह और जेटली जी ने नहीं कहा कि डिग्री असली है और इसे कोई भी डीयू से ले सकता है?'

गौरतलब है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अप्रैल में सीआईसी को मोदी की शैक्षणिक योग्यता सार्वजनिक करने के लिए एक पत्र लिखा था.

उनके पत्र के बाद सीआईसी ने डीयू से उनकी डिग्री सार्वजनिक करने के लिए कहा था.

मोदी के डिग्री संबंधित विवाद पर बीजेपी के अध्यक्ष अमित शाह और केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली को मैदान में उतरना पड़ा था. इस संबंध में दोनों नेताओं ने एक संवाददाता सम्मेलन भी बुलाया था.

हालांकि आप ने शाह और जेटली की ओर से उपलब्ध कराई गई मोदी की डिग्री को फर्जी बताया है.

First published: 19 June 2016, 6:00 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी