Home » इंडिया » Dussehra, Diwali, Chath immersion done in Ganga will be fined 50,000
 

दशहरा, दिवाली, छठ पर गंगा में किया मूर्ति विसर्जन तो लगेगा 50,000 का जुर्माना

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 October 2019, 12:08 IST

केंद्र सरकार ने दशहरा, दिवाली, छठ और सरस्वती पूजा सहित त्यौहारों के दौरान गंगा या उसकी सहायक नदियों में मूर्तियों के विसर्जन को रोकने के लिए घाटों की घेराबंदी और 50,000 रुपये का जुर्माना लगाने सहित 15 सूत्री निर्देश जारी किया है. 11 गंगा बेसिन राज्यों में मुख्य सचिवों को नेशनल मिशन फॉर क्लीन गंगा (NMCG) द्वारा निर्देश जारी किया गया है. कहा गया है कि “गंगा नदी और उसकी सहायक नदियों में कोई मूर्ति विसर्जन नहीं किया जायेगा.” इस मुद्दे पर NMCG और राज्यों के बीच बैठक हुई थी.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार सूत्रों ने बताया कि बैठक के दौरान उत्तराखंड, यूपी, बिहार, झारखंड और पश्चिम बंगाल के अधिकारी मौजूद थे. इन राज्यों के अलावा यह निर्देश दिल्ली, हिमाचल प्रदेश, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, हरियाणा और राजस्थान को भेजा गया है. अधिकारियों को गंगा और उसकी सहायक नदियों में मूर्तियों के विसर्जन और पूजा सामग्री के निपटान के खिलाफ मानदंडों को सख्ती से लागू करने और पर्यावरण के अनुकूल तरीके से उपयुक्त वैकल्पिक व्यवस्था करने के लिए कहा गया था.

 

पर्यावरण (संरक्षण) अधिनियम 1986 की धारा 5 के तहत जारी निर्देश में कहा गया है: “गंगा में मूर्ति विसर्जन के लिए नदी तट और घाटों पर 50,000 रुपये का जुर्माना होना चाहिए. 11 राज्यों के मुख्य सचिवों से कहा गया है कि वे प्रत्येक त्योहार के अंत से सात दिनों के भीतर कार्रवाई की गई रिपोर्ट प्रस्तुत करें.

एनएमसीजी ने यह भी निर्देश दिया है कि जिला मजिस्ट्रेट निगरानी और प्रवर्तन सुनिश्चित करके इन निर्देशों को लागू करें. एनएमसीजी अधिकारियों के अनुसार, गणेश चतुर्थी, विश्वकर्मा पूजा, दुर्गा पूजा, दिवाली, छठ पूजा और सरस्वती पूजा जैसे उत्सवों के दौरान गंगा और उसकी सहायक नदियों में बड़े पैमाने पर मूर्तियों और पूजा सामग्री का विसर्जन होता है, जिससे खतरनाक स्थिति पैदा हो गई है.

2014 में केंद्र सरकार ने राष्ट्रीय नदी गंगा के प्रदूषण, संरक्षण और कायाकल्प के प्रभावी उन्मूलन के दोहरे उद्देश्यों को पूरा करने के लिए 20,000 करोड़ रुपये के बजट परिव्यय के साथ एक प्रमुख पहल नमामि गंगे शुरू की थी. 2017 में नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल ने गंगा में किसी भी कचरे के निपटान पर प्रतिबंध लगा दिया.

रामलीला में परशुराम बने बीजेपी सांसद मनोज तिवारी, कही ये बड़ी बात

First published: 3 October 2019, 11:11 IST
 
अगली कहानी