Home » इंडिया » Earth nearest Black Hole discovered, Know the effect, it can be seen without telescope
 

सूर्य से चार गुना बड़ा ब्लैक होल आया पृथ्वी के नजदीक, जानिए कितना है धरती के लिए खतरनाक

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 May 2020, 15:09 IST

Earth Nearest Black Hole: पृथ्वी पर एक बार फिर बड़ा खतरा मंडरा रहा है. दरअसल, पृथ्वी के सबसे नजदीकी ब्लैक होल को खोज निकाला गया है. ये ब्लैक होल पृथ्वी के काफी नजदीक है. यह इतना नजदीक है कि इसे बिना टेलिस्कोप के भी नंगी आंखों से देखा जा सकता है. यूरोपियन सदर्न ऑब्जर्वेटरी के खगोलविद थॉमस रिविनिउस ने इसकी जानकारी दी.

थॉमस रिविनिउस ने जानकारी दी कि यह ब्लैक होल धरती से करीब एक हजार प्रकाश वर्ष दूर है. एक प्रकाश वर्ष की दूरी साढ़े नौ हजार अरब किलोमीटर होती है. थॉमस ने जानकारी दी कि इस ब्लैक होल के साथ नृत्य करते दो तारों को भी बिना दूरबीन के देखा जा सकता है. यह ब्लैक होल हमारा पड़ोसी है.

बुधवार को पत्रिका 'एस्ट्रोनॉमी एंड एस्ट्रोफिजिक्स' में इस खोज से संबंधित खबर प्रकाशित हुई थी. बताया जा रहा है कि यह ब्लैक होल सूर्य से चार गुना ज्यादा बड़ा है. इससे पहले जो ब्लैक होल धरती के सबसे नजदीक था वह इससे लगभग तीन गुना यानि 3,200 प्रकाश वर्ष की दूरी पर था.

कोरोना वायरसः दुनियाभर में मरने वालों का आंकड़ा दो लाख 76 हजार के पार, 40 लाख से ज्यादा संक्रमित

हार्वर्ड ब्लैक होल इनीशिएटिव के निदेशक एवी लोएब ने कहा है कि न सिर्फ ये ब्लैक होल बल्कि ऐसे ब्लैक होल्स होने की भी संभावना है, जो इसकी तुलना में धरती के अधिक नजदीक हों. इस ब्लैक होल  के बारे में ब्लैक होल का गुरुत्वाकर्षण त्वरण इतना मजबूत होता है कि इससे कोई भी चीज नहीं बच पाती.

उन्होंने कहा कि ब्लैक होल के संपर्क में आकर प्रकाश और चुम्बकीय विकिरण भी नष्ट हो जाते हैं. उन्होंने बताया कि ब्लैक होल से पिण्ड तक नहीं बच पाते हैं. जो भी चीज ब्लैक होल के अंदर जाती है वो गायब हो जाती है. टेलिस्कोपियम गैलेक्सी में मिला यह ब्लैक होल HR 6819 सिस्टम का हिस्सा है. हालांकि यह ब्लै क होल अदृश्य है लेकिन इसके दो साथी चमकीले तारे हैं, जो इसके छिपने के स्थान को दूर करते हैं.

Lockdown: ममता सरकार नहीं दे रही प्रवासी मजदूरों के लिए चलाई जा रही ट्रेनों को अनुमति- अमित शाह

Coronavirus : 24 घंटे में 3000 से ज्यादा मामले, अब COVID-19 के साथ रहना सीखना होगा- हेल्थ मिनिस्ट्री

First published: 9 May 2020, 15:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी