Home » इंडिया » ED arrested Jain brothers in connection of forgery
 

ED ने जैन बंधुओं को बैंक धोखाधड़ी के मामले में किया गिरफ़्तार

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 August 2017, 16:43 IST

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मंगलवार को 2,300 करोड़ रुपये से ज्यादा के बैंक धोखाधड़ी के मामले में सूर्य विनायक ग्रुप ऑफ इंडस्ट्रीज के संजय जैन और राजीव जैन को गिरफ्तार किया है.

ईडी ने एक बयान में कहा कि इन भाइयों ने विभिन्न कंपनियों, सूर्य विनायक इंडस्ट्रीज लिमिटेड, एसवीआईएल माइंस, सूर्य विनायक वेल्नेस लिमिटेड, सूर्य विनायक एग्रो कमोडिटीज लिमिटेड और उनके वास्तविक मूल्यों को धोखाधड़ी से बढ़ाकर बड़ी मात्रा में बैंक ऋण लिया.

ईडी ने कहा कि सूर्य विनायक इंडस्ट्रीज लिमिटेड और इसके मालिकों या प्रमुख शेयरधारकों और निदेशकों ने पंजाब नेशनल बैंक के नेतृत्व में 21 बैंकों के साथ मिलकर एक कंसोर्टियम से ऋण और ऋण की सुविधा प्राप्त की लेकिन पैसे नहीं लौटाए.

एजेंसी ने कहा, "30 सितंबर, 2012 को कंपनी के खिलाफ बैंकों का बकाया 2,066.60 करोड़ रुपये था, जबकि सूर्य विनायक इंडस्ट्रीज लि. और एसवीआईएल माइन्स ने अलग से विभिन्न बैंकों से 246 करोड़ रुपये का ऋण लिया है."

ईडी ने कहा कि जो ऋण इन कंपनियों के माध्यम से लिए गए थे, उसे फर्जी कंपनियों के माध्यम से गोलमाल करते हुए अचल संपत्ति खरीदने के लिए इस्तेमाल किया गया. 

एजेंसी ने दावा किया, "इसके अलावा इन्होंने 500 करोड़ रुपये से अधिक धन भारत से बाहर की अपनी पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनियों को भेज दिया." ईडी ने पहले ही समूह और सहयोगियों की 78 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त कर ली है.

First published: 23 August 2017, 16:43 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी