Home » इंडिया » Eid-al-Adha 2021: People offered limited number of prayers in mosques amid Corona, know full details
 

Eid-al-Adha 2021: कोरोना के बीच मस्जिदों में लोगों ने सीमित संख्या में अदा की नमाज, जानिए पूरी डिटेल

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 July 2021, 9:14 IST

देशभर में आज ईद उल-अज़हा (Eid Al Adha) का त्योहार मनाया जा रहा है.इस मौके पर बड़ी संख्या लोग मस्जिद में नमाज़ अदा कर रहे हैं. लोगों को मुबारकबाद देते हुए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा ''देशवासियों को ईद मुबारक! ईद-उज़-ज़ुहा प्रेम, त्‍याग, बलिदान की भावना के प्रति आदर व्‍यक्‍त करने और समावेशी समाज में एकता और भाईचारे के लिए मिलकर कार्य करने का त्‍योहार है. हम COVID19 से बचाव के उपाय अपनाते हुए समाज के हर वर्ग की खुशहाली के लिए काम करने का संकल्‍प लें.''

PM मोदी ने कहा ''ईद मुबारक! ईद-उल-अधा की हार्दिक शुभकामनाएं.  यह दिन सामूहिक सहानुभूति, सद्भाव और अधिक से अधिक अच्छे की सेवा में समावेश की भावना को आगे बढ़ाए. 

दिल्ली की जामा मस्जिद सहित कई जगहों पर लोगों ने नमाज अदा की. ANI के अनुसार दिल्ली की फतेहपुरी मस्जिद के शाही इमाम मुफ्ती मुकर्रम ने कहा '' मैं सभी भारतवासियों को ईद की मुबारकबाद और शुभकामनाएं देता हूं. सरकार ने जो गाइडलाइन जारी की है, उसके मुताबिक आज मस्जिद के अंदर के लोगों ने ही नमाज़ अदा की. हम दुआ करते हैं कि हमारे देश से कोरोना खत्म हो जाए.''


कड़े कोरोना वायरस बीमारी (कोविड -19) प्रोटोकॉल के बीच ईद के अवसर पर नमाज अदा करने के लिए कई लोग बुधवार को भारत की सबसे बड़ी मस्जिदों में से एक जामा मस्जिद पहुंचे. दुनिया भर के मुसलमान मंगलवार की देर शाम और बुधवार को ईद उल-अज़हा या 'बलिदान का पर्व' के रूप में मनाते हैं.

 

सुबह के दृश्यों में जामा मस्जिद मस्जिद में भारी पुलिस सुरक्षा भीड़ को प्रतिबंधित करते हुए मुट्ठी भर लोगों को दिखाया गया. मस्जिद के शाही इमाम ने एक और वायरस लहर को रोकने के लिए समुदाय को कोविड -19 सुरक्षा मानदंडों का पालन करने की अपील की थी.

शाही इमाम ने कहा "तीसरी लहर के मद्देनजर हमें अपनी और अपने परिवार की सुरक्षा के लिए कोविड -19 दिशानिर्देशों का पालन करने की आवश्यकता है. हमने जामा मस्जिद में सीमित लोगों को नमाज अदा करने की अनुमति देने का फैसला किया था. 15-20 लोगों ने नमाज अदा की."

कोविड की दूसरी लहर के दौरान ऑक्सीजन की कमी के कारण किसी भी मौत की सूचना नहीं- केंद्र

First published: 21 July 2021, 8:56 IST
 
अगली कहानी