Home » इंडिया » Encounter between Security Forces and Terrorist in Watrigaam of Anantnag in Jammu Kashmir four terrorist killed
 

जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, चार आतंकी ढेर

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 March 2020, 12:10 IST

Anantnag Encounter: पूरी दुनिया में कोरोना वायरस (Corona Virus) का खौफ फैला हुआ है, बावजूद इसके आतंकी (Terrorist) अपने नापाक मंसूबों में लगे हुए हैं और लगातार भारत (India) में हमलों की योजना (Planning) बना रहा हैं. लेकिन भारतीय सेना (Indian Army) के जवान (Soldiers) और सुरक्षाबल (Secuty Forces) उनके मंसूबे कामयाब नहीं होने दे रहे हैं. ऐसा ही एक बार फिर से रविवार को देखने को मिला.

जब सुरक्षाबलों ने जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) के अनंतनाग (Anantnag) में चार आतंकियों (Terrorist) को मार गिराया. जानकारी के मुताबिक, सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच हुई मुठभेड़ में चार आतंकी मारे गए हैं. बताया जा रहा है कि सुरक्षाबलों को अनंतनाग स्थित वटरीगाम में कुछ आतंकियों के छिपे होने की सूचना मिली थी. उसके बाद सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके की नाकाबंदी कर दी और तलाशी अभियान चलाया. इस दौरान आतंकियों ने खुद को घिरता हुआ देखा तो सुरक्षाबलों पर गोलियां चलना शुरु कर दी. जवाब में सुरक्षाबलों ने भी गोलियां चलाई और चार आतंकियों को मार गिराया.

जानकारी के मुताबिक, सुरक्षाबल अभी भी सर्च ऑपरेशन चला रहे हैं और गोलियों की आवाज सुनी जा रही है. इस एनकाउंटर में किसी भी भारतीय जवान के घायल होने की सूचना नहीं है. आतंकी गतिविधि को देखते हुए भारतीय सुरक्षाबलों ने अभी भी पूरे इलाके को घेर रखा है और सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है.

इससे पहले भी जम्मू-कश्मीर के शोपियां सेक्टर में मुठभेड़ के दौरान सुरक्षाबलों ने लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादियों को मार गिराया था. मारे गए आतंकवादियों की पहचान कुलगाम निवासी शब्बीर अहमद मलिक उर्फ अबू माविया तथा वदीना मेलोहरा निवासी अमीर अहमद डार के रूप में हुई थी. पाकिस्तान में प्रशिक्षित आतंकवादी मलिक दक्षिण कश्मीर में विभिन्न आतंकवादी घटनाओं में शामिल थे.

मध्यप्रदेश: सोमवार को तय होगा कमलनाथ सरकार का भविष्य, राज्यपाल ने दिया फ्लोर टेस्ट का निर्देश

कोरोना वायरस: भारत में अबतक मिले 105 मामले, दुनियाभर में 5,839 की मौत, 156,738 संक्रमित

रिपोर्ट में खुलासा, नवंबर में कोरोना वायरस का पहला मामला आया था सामने लेकिन चीन ने दुनिया से इसे छुपाया

First published: 15 March 2020, 12:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी