Home » इंडिया » Encounter between Security Forces and Terrorist One militant Killed Two Jawan injured
 

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, एक आतंकी ढेर

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 January 2020, 14:12 IST
(File Photo)

Pulwama Encounter : दक्षिणी कश्मीर (South Kashmir) के पुलवामा (Pulwama) में सुरक्षाबलों और आतंकियों (Terrorist) के बीच मुठभेड़ (Encounter) की खबर है. खबरों के मुताबिक, ये मुठभेड़ पंपोर इलाके में हुई है. जिसमें एक आतंकी मारा गया है. वहीं दो सुरक्षाकर्मी भी घायल हुए हैं. जानकारी के मुताबिक, अभी भी इस इलाके में दो आतंकी छिपे हो सकते हैं. बता दें कि इस साल जम्मू-कश्मीर में आतंकियों के साथ सुरक्षाबलों की ये चौथी मुठभेड़ है. सोमवार को शोपियां जिले में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुई थी. जिसमें तीन आतंकी मारे गए थे.

बता दें कि आज यानी मंगलवार की सुबह सुरक्षाबलों को पंपोर इलाके में कुछ आतंकियों के छिपे होने की सूचना मिली थी. इसके बाद सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके को घेर लिया. इस दौरान आतंकियों ने खुद को घिरा पाकर सुरक्षाबलों पर फायरिंग करनी शुरू कर दी. जवाबी कार्रवाई में सेना ने जैश के एक आतंकी को मार गिराया है. वहीं दो जवान घायल हो गए हैं.

मुठभेड़ में मारे गए आतंकी की अभी तक पहचान नहीं हो पाई है. इस बारे में एसपी का कहना है कि आतंकी की लाश बरामद होने से पहले उसकी शिनाख्त करना मुश्किल है. बताया जा रहा है कि दोनों और से अभी भी गोलीबारी हो रही है. सुरक्षाबलों ने आतंकियों से समर्पण करने की भी बात कही है, लेकिन सुरक्षाबलों की इस अपील का आतंकियों पर कोई असर नहीं हुआ है और वो लगातार फायरिंग कर रहे हैं. वहीं दूसरी ओर से सेना के जवान भी कड़ी कार्रवाई कर रहे हैं.

सोमवार को कश्मीर के शोपियां में सुरक्षाबलों ने एक मुठभेड़ में तीन आतंकियों को मार गिराया था. जिसमें एक आतंकी आदिल शेख भी शामिल है. आदिल शोपियां  का ही रहने वाला था. वह जम्मू-कश्मीर पुलिस में एसपीओ के पद पर काम कर चुका है. जहां से भाग कर वह आतंकी संगठन हिजबुल में शामिल हो गया था. वहीं मारे गए दूसरे आतंकी का नाम वसीम वानी है. वह भी शोपियां का ही रहने वाला था. इसके अलावा तीसरे आतंकी की पहचान जहांगीर मलिक के रूप में हुई है. वह पुलवामा जिले के अचेन इलाके का रहने वाला था.

स्पीकर द्वारा विधायकों को अयोग्य घोषित करने की शक्तियों पर पुनर्विचार हो : सुप्रीम कोर्ट

हिंदू महासभा का बयान- अगर भारत हिंदू राष्ट्र होता तो नहीं पड़ती CAA की जरूरत

LIC पॉलिसी में पैसा लगाने से पहले हो जाएं सावधान, ऐसा न हो कि डूब जाए आपकी गाढ़ी कमाई

First published: 21 January 2020, 14:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी