Home » इंडिया » Encounter between terrorist and Security Forces in Awantipora Jammu Kashmir
 

जम्मू-कश्मीर के अवंतीपोरा में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, दो से तीन आतंकी घिरे, गोलाबारी जारी

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 January 2020, 13:12 IST

Encounter in Awantipora : गणतंत्र दिवस (Republic Day) के मद्देनजर देशभर में सुरक्षा एजेंसियां (Security Agencies) सतर्क हैं. चप्पे-चप्पे पर सुरक्षाकर्मी नजर बनाए हुए हैं. इसी बीच जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmri) के पुलवामा (Pulwama) में सुरक्षाबलों और आतंकियों (Terrorist) के बीच मुठभेड़ (Encounter) की खबर है. बताया जा रहा है कि त्राल इलाके (Tral Area) में सुरक्षाबलों ने दो से तीन आतंकियों को घेर लिया है और दोनों ओर से फायरिंग हो रही है. बता दें कि त्राल में हरिगाम गांव में सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच गोलीबारी चल रही है.

शनिवार सुबह खुफिया एजेंसियों को हरिगाम गांव में आतंकियों के छिपे होने की सूचना मिली थी. इसके बाद सुरक्षाबलों ने पूरे गांव को घेर लिया और सर्च ऑपरेशन (Search Operation) शुरु किया. सुरक्षाबलों की घेराबंदी देखकर आतंकियों ने गोलीबारी (Firing) शुरु कर दी. इससे पहले भी आतंकियों ने शुक्रवार की रात श्रीनगर के डाउनटाउन इलाके (Downtown Area) में पुलिस पोस्ट को निशाना बनाकर ग्रेनेड से हमला किया थे. इसमें दो जवानों समेत तीन लोग घायल हो गए थे. घटना के बाद पूरे इलाके में सर्च आपरेशन चलाया गया.

बता दें कि शुक्रवार की शाम सफाकदल इलाके के नूरबाग में आतंकियों ने पुलिस पोस्ट को निशाना बनाकर ग्रेनेड दागा था. ग्रेनेड सड़क पर गिरकर फटा. इस दौरान सीआरपीएफ और पुलिस का एक-एक जवान घायल हो गया. साथ ही वहां से गुजर रहा एक नागरिक भी छर्रे लगने से घायल हो गया. सभी घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया. उसके बाद सुरक्षा बलों ने पूरे इलाके में सर्च ऑपरेशन शुरु किया. और जगह-जगह नाके गाकर वाहनों की चेकिंग शुरु की गई. देर रात तक आपरेशन चलता रहा.

इससे पहले बुधवार को पुलवामा जिले में सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में एक आतंकी को मार गिराया था. जो आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद से जुड़ा था और पाकिस्तान का रहने वाला था. यह आतंकी आतंकवाद से प्रभावित दक्षिण कश्मीर में अबु सैफु ल्ला और अबु कासिम के नाम से सक्रिय था. वह पिछले डेढ़ साल से अधिक समय से अवंतिपोरा के त्राल और ख्रीव इलाके में सक्रिय था. वह जुलाई 2013 में कुपवाड़ा जिले में मारे गए जैश प्रमुख कारी यासिर का करीबी सहयोगी था.

दुनिया भर में तेजी से फैल रहे खतरनाक कोरोना वायरस से खुद को ऐसे रखें सुरक्षित

Republic Day 2020: ऊंची इमारतों पर शार्पशूटर रहेंगे तैनात, 6000 पुलिसकर्मी चप्पे-चप्पे पर होंगे मौजूद

Video: शाहीन बाग में रिपोर्टिंग करने गए TV एंकर पर हमला, CAA प्रदर्शनकारियों ने की मारपीट

First published: 25 January 2020, 13:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी