Home » इंडिया » Encounter in Srinagar between security forces and Terrorist, One Jawan injured
 

जम्मू-कश्मीर: श्रीनगर में सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, एक जवान के घायल होने की खबर

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 July 2020, 10:00 IST

Encounter in Srinagar: जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) में एक बार फिर से सुरक्षा बलों (Security Forces)और आतंकवादियों (Terrorist) के बीच मुठभेड़ (Encounter) की खबर है. बताया जा रहा है कि इस मुठभेड़ में एक जवान (Jawan) गोली लगने से घायल हो गया. जानकारी के मुताबिक, शनिवार सुबह (Saturday Morning) जम्मू-कश्मीर की राजधानी श्रीनगर (Srinagar) में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हो गई. दोनों ओर से अभी भी गोलीबारी जारी है. इस मुठभेड़ में सेना का एक जवान घायल हो गया है.

घायल जवान को स्थानीय अस्पताल (Hospital) में भर्ती कराया गया है. बता दें कि शनिवार तड़के सुरक्षाबलों को श्रीनगर के रामभिलहर परिमापोरा इलाके (Rambhilhar Primapora Area) में कुछ आतंकवादियों की मौजूदगी की खुफिया जानकारी मिली थी. इसी जानकारी के आधार पर जम्मू-कश्मीर पुलिस और सीआरपीएफ के जवानों ने इलाके की घेराबंदी कर सर्च ऑपरेशन शुरु किया. इस दौरान आतंकियों ने खुद को घिरता देख सुरक्षाबलों पर गोलियां चलाना शुरु कर दी. जवाब में सुरक्षाबलों ने भी गोलियां चलाई. हालांकि अभी तक किसी आतंकी के मारे जाने की कोई खबर नहीं है. लेकिन एक सुरक्षाकर्मी इस एनकाउंटर में गोली लगने से घायल जरूर हुआ है. दोनों ओर से अभी भी गोलीबारी जारी है. बताया जा रहा है कि इस इलाके में दो से तीन आतंकवादियों को सुरक्षाबलों ने घेर लिया है.


Petrol Diesel Price: डीजल की कीमत में आज फिर हुआ इजाफा, पेट्रोल के दाम स्थिर

बता दें कि इनदिनों जम्मू-कश्मीर पुलिस और सेना के जवान कश्मीर घाटी से आतंकियों के सफाए के लिए अभियान चला रहे हैं. इस दौरान आए दिन सुरक्षाबलों और आतंकियों का आमना-सामना हो जाता है. जिसमें तमाम आतंकी मारे जा रहे हैं. ईद के बाद आतंकियों के सफाए के लिए चलाए जा रहे अभियानों में और तेजी देखी गई है और इन दो महीनों के दौरान कश्मीर घाटी में करीब 50 आतंकवादी मारे जा चुके हैं. आतंकियों के मारे जाने से पाकिस्तान में बैठे आतंक के आका बौखलाए हुए हैं और इसी के चलते आए दिन सीमा पार से नियंत्रण रेखा पर भी गोलीबारी और आतंकियों के घुसपैठ की सूचनाएं आती रहती हैं.

Janmashtami 2020: श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का जानिए शुभ मुहूर्त, ये है पूजा की विधि

लेकिन सीमा में मुश्तैद भारतीय सेना के जवान आतंकियों के इन मंसूबों को कामयाब नहीं होने देते और उन्हें मुंहतोड़ जवाब देते हैं. ऐसे में या तो आतंकी वापस पाकिस्तान चले जाते हैं या फिर जवानों की गोली का निशान बन जाते हैं. इन्हीं सभी कारणों के चलते आतंकी किसी बड़ी घटना को अंजाम देना की फिराक में है, लेकिन भारतीय जवान उनके हर मंसूबे पर पानी फेर देते हैं.

कोरोना वायरस सिर्फ मुंह और नाक से नहीं, कान से भी घुस सकता है अंदर- स्टडी में दावा

First published: 25 July 2020, 10:00 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी