Home » इंडिया » Ethics Committee of Lok Sabha seeks explanation from five TMC MPs in a sting operation.
 

नारद स्टिंग केस: लोकसभा की आचार समिति ने टीएमसी सांसदों से मांगा जवाब

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 April 2016, 18:13 IST

नारद स्टिंग मामले में लोकसभा की आचार समिति ने तृणमूल कांग्रेस के कथित आरोपी पांच सांसदों से जवाब मांगा है. 15 सदस्यों वाली आचार समिति के अध्यक्ष वरिष्ठ बीजेपी नेता लालकृष्ण आडवाणी हैं.

लोकसभा की स्पीकर सुमित्रा महाजन ने 16 मार्च को जांच के लिए स्टिंग ऑपरेशन का मामला आचार समिति को भेजा था. नारद न्यूज़ पोर्टल के स्टिंग में पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के पांच सांसदों को घूस लेते दिखाया गया था. 

स्पीकर ने मामले को काफी गंभीर मानते हुआ कहा था कि ये संसद की विश्वसनीयता से जुड़ा मुद्दा है.पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव हो रहे हैं. ऐसे में इस स्टिंग पर जमकर सियासत हो रही है.

एथिक्स कमेटी ने टीएमसी के नेताओं को मामले पर अपना पक्ष रखने को कहा है. इससे पहले समिति ने नारद से वीडियो क्लिप के स्रोत के बारे में जानकारी मांगी थी. साथ ही आचार समिति ने पूछा था कि क्या नारद पोर्टल अपने स्टिंग पर कायम है.

पढ़ें:टीएमसी नेताओं के स्टिंग ने संसद में मचाया बवाल, लेफ्ट और टीएमसी आमने-सामने

बंगाल चुनाव में गरमाया है स्टिंग का मुद्दा

ऐसा माना जा रहा है कि न्यूज़ पोर्टल से जवाब मिलने के बाद सांसदों से स्पष्टीकरण मांगा गया है. पिछले महीने प्रसारित हुए स्टिंग ऑपरेशन में छह टीएमसी सांसदों को एक फर्जी संस्था से घूस लेते दिखाया गया था.

इनमें से सौगत रॉय, सुल्तान अहमद, सुवेन्दु अधिकारी, काकोली घोष दस्तीदार और प्रसून बनर्जी लोकसभा से सांसद हैं. वहीं मुकुल रॉय राज्यसभा से टीएमसी के सांसद हैं. 

पढ़ें:टीएमसी नेताओं के स्टिंग पर कोलकाता हाईकोर्ट ने जांच कमेटी बनाई

टीएमसी के सांसद सुल्तान अहमद का कहना है कि उन्होंने नोटिस के बारे में सुना है लेकिन वो अभी चुनाव प्रचार में हैं, लिहाजा अब तक नोटिस मिला नहीं है. पश्चिम बंगाल में चुनावी घमासान चरम पर है.

ऐसे में बीजेपी और दूसरी विपक्षी पार्टियां टीएमसी के खिलाफ मिले इस मौके को भुनाने में कोई कसर नहीं छोड़ रही हैं. हालांकि टीएमसी का कहना है कि विधानसभा चुनाव से पहले उनकी पार्टी के खिलाफ ये सियासी साजिश है.

First published: 14 April 2016, 18:13 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी