Home » इंडिया » Ex chief justice and governor sundar nath bhargav touched feet of asaram in jodhpur court when he reached for hearing in rape case
 

पेशी पर आए आसाराम, पूर्व चीफ जस्टिस और राज्यपाल ने छुए पैर

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 December 2017, 19:46 IST
(यूट्यूब)

नाबालिग युवती से यौन उत्पीड़न के आरोप में जेल में बंद आसाराम के प्रति लोगों की आस्था अभी कम नहीं हुई है. आसाराम के लिए आस्था का विषय चर्चा में इसलिए भी है क्योंकि उनके पैर किसी आम भक्त ने नहीं बल्कि हाई कोर्ट के पूर्व मुख्य न्यायाधीश और पूर्व राज्यपाल ने छुए.

दरअसल शनिवार को जोधपुर की विशेष अदालत में आसाराम पेशी के लिए अाए हुए थे, क्योंकि यहां उनके केस की कई दिन से सुनवाई चल रही है. यहां आसाराम को कड़ी सुरक्षा के बीच रोजाना कोर्ट में पेश किया जा रहा है.

वहीं, बीते शनिवार 16 दिसंबर को जब आईटी एक्ट और यौन उत्पीड़न के दो अलग-अलग मामलों में आसाराम की जोधपुर की विशेष अदालत में पेशी हुई तो कोर्ट के मुख्य गेट के बाहर अपने दो गार्ड्स के साथ सिक्किम के पूर्व मुख्य न्यायाधीश और पूर्व राज्यपाल सुंदर नाथ भार्गव खड़े हुए थे.

 

youtube

जैसे ही पुलिसकर्मियों ने आसाराम को जेल की वैन से नीचे उतारा, तो पुलिस वैन के आगे ही पूर्व चीफ जस्टिस भार्गव आसाराम के पैरों में पड़ गए. यहां तक कि पूर्व मुख्य न्यायाधीश और पूर्व राज्यपाल सुंदर नाथ भार्गव के दोनों सरकारी गार्ड भी आसाराम के आशीर्वाद से वंचित नहीं रहना चाहते थे, लिहाजा उन्होंने भी आसाराम के पैर छूकर आशीर्वाद  लिया.

इस घटना को लेकर सुंदर नाथ भार्गव ने कहा, "मैं एक निजी समारोह में जोधपुर आया हुआ था, तो पता चला कि आसाराम पेशी के लिए कोर्ट में आने वाले हैं. इनके दर्शन के लिए मैं यहां आ पहुंचा."

वहीं, जब कोर्ट में चली सुनवाई के बाद आसाराम कोर्ट से बाहर निकले तो मीडियाकर्मियों ने उनसे इस बारे में पूछा तो उन्होंने कहा, "भार्गव हमारे पुराने भक्त हैं, लंबे अरसे से हमें जानते हैं. उनकी मिलने की इच्छा हुई तो चले आए. उनकी न्यायपालिका में भी अच्छी पहचान है, जो भी होगा अच्छा होगा."

First published: 17 December 2017, 19:46 IST
 
अगली कहानी